जहीर खान © IANS
जहीर खान © IANS

दिल्ली डेयरडेविल्स के कप्तान जहीर खान का कहना है कि मुंबई इंडियंस के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग(आईपीएल) के 10वें संस्करण में शनिवार देर रात खेले गए मैच में क्रिस मौरिस और कागीसो रबाडा ने शानदार प्रदर्शन किया। वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए इस मैच में मुंबई ने दिल्ली को 14 रनों से मात दी। मौरिस(नाबाद 52) और कागीसो(44) की मुश्किल हालात में खेली गई बेहद शानदार पारियों की बदौलत दिल्ली टीम मुंबई के हाथों शर्मनाक हार पाने से बच गई।

जहीर ने कहा, “हमारे गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया। गेंदबाजों को इस तरह खेल पर दबदबा बनाए देख अच्छा लगा। टीम के लिए मुंबई के खिलाफ मौरिस और रबाडा ने शानदार प्रदर्शन किया।” कप्तान ने कहा, “मुंबई की टीम ने शुरुआत में ही दिल्ली के जो छह विकेट लिए, इसके कारण वह मैच पर दबदबा हासिल कर पाने में सफल रहे और इसी ने उन्हें जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई।” मुंबई ने इस मैच में निर्धारित 20 ओवरों में आठ ओवर खोकर दिल्ली के सामने 143 रनों का लक्ष्य रखा था, जिसे दिल्ली हासिल नहीं कर पाई और 20 ओवरों में सात विकेट खोकर केवल 128 रन ही बना पाई।

दिल्ली डेयरडेविल्स के तेज गेंदबाज कगिसो रबाडा ने कहा कि उनकी टीम को आसानी से विकेट गंवाने के कारण अंकतालिका में शीर्ष पर चल रहे मुंबई इंडियन्स से आईपीएल मैच गंवाना पड़ा। डेयरडेविल्स की 14 रन से हार के बाद रबादा ने कहा, ‘‘यह अच्छा मैच था लेकिन दुर्भाग्य से हम इसमें जीत दर्ज नहीं कर पाए। हमने वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की लेकिन इसके बाद हमने पहले छह ओवरों में आसानी से विकेट गंवाए। कुछ बल्लेबाज रन आउट हुए। पहले छह ओवरों में अच्छा प्रदर्शन करके ही आप बड़े लक्ष्य हासिल कर सकते हैं।’’ ये भी पढ़ें-दिल्ली डेयरडेविल्स बनाम मुंबई इंडियंस का स्कोरकार्ड

रबाडा सलामी बल्लेबाज आदित्य तरे के पारी के चौथी गेंद पर रन आउट होने तथा दूसरे सलामी बल्लेबाज संजू सैमसन तथा नंबर चार करुण नायर और श्रेयस अय्यर के आसानी से विकेट गंवाने का जिक्र कर रहे थे। डेयरडेविल्स के सामने 143 रन का आसान लक्ष्य था लेकिन उसकी टीम इसे भी हासिल नहीं कर पायी। दक्षिण अफ्रीकी रबाडा ने पहले 30 रन देकर एक विकेट लिया और फिर जब डेयरडेविल्स का स्कोर छह विकेट पर 24 रन था तब 44 रन बनाए। वह 19वें ओवर में पवेलियन लौटे। रबाडा ने कहा, “पिच बल्लेबाजी के लिए अनुकूल थी। दुर्भाग्य से आज हमारा दिन नहीं था। यह निराशाजनक है कि हमें हार मिली। हम अपनी रणनीति पर सही तरह से अमल नहीं कर पाये।”