गौतम गंभीर © AFP
गौतम गंभीर © AFP

आईपीएल 10 में कोलकाता नाइट राइडर्स शानदार प्रदर्शन कर रही है। टीम 7 में से 5 मुकाबले जीतकर अंक तालिका में दूसरे नंबर पर है। कोलकाता के जबर्दस्त प्रदर्शन के पीछे है उसके कप्तान गौतम गंभीर की आक्रामक नीतियां। कोलकाता ने हर मैच में कुछ ना कुछ अलग नीति अपनाकर विरोधी टीम को चौंकाया है और जीत हासिल की है। शानदार प्रदर्शन कर रही कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान गौतम गंभीर मैदान पर हमेशा खासा गुस्से में नजर आते हैं। चाहे वो बल्लेबाजी हो या फिर कप्तानी हर मोर्चे पर गंभीर की आक्रामकता देखते ही बनती है। गंभीर जैसा ही स्वभाव रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कप्तान विराट कोहली का भी है। वो भी मैदान पर अकसर गुस्से में दिखते हैं और कभी-कभी जोश में आकर गालियां भी दे देते हैं।

एक इंटरव्यू में गौतम गंभीर ने अपनी और विराट कोहली की आक्रामकता का राज खोला, उन्होंने बताया ‘ दिल्ली के खिलाड़ी मैदान पर आक्रामक रहने के लिए इस तरह का व्यवहार करते हैं, ये व्यवहार वो कहीं से सीखते नहीं हैं, बल्कि ये दिल्ली के क्रिकेटर्स की संस्कृति है जो उनमें अपने आप आ जाती है। मैं तो बस इतना ही कह सकता हूं कि इससे आपका ध्यान खेल पर रहता है और इससे आप खेल में अच्छी प्रतिस्पर्धा करते हैं।’ ये भी पढ़ें: पुणे के विजयरथ को रोकने उतरेगी कोलकाता नाइट राइडर्स

गंभीर ने कहा कि मैदान की इन चीजों को व्यक्तिगत रूप से नहीं लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर ये चीज सिर्फ मैदान तक ही सीमित है तो सही है और मैदान की बात मैदान पर ही छोड़ दी जानी चाहिए। गंभीर ने आगे कहा, ‘आपको ये ध्यान में रखना पड़ता है कि कहीं आप अपनी सीमा पार तो नहीं कर रहे हैं और आपको ये भी नहीं भूलना चाहिए कि आपको मैदान के बाहर लाखों लोग देख रहे हैं, इसलिए आपको थोड़ा सावधान रहना चाहिए। वैसे आपको बता दें कि गौतम गंभीर और विराट कोहली आईपीएल 2013 में आपस में भी एक-दूसरे से मैदान पर ही लड़ गए थे.