IPL 2019 Final: Mumbai Indian captain Rohit sharma gets emotional
Rohit Sharma @ BCCI

हर मुकम्मल सफर के पीछे काफी संघर्ष और दर्द छुपा होता है जो कई बार दबा रहता है। राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में खेले गए इंडियन प्रीमियर लीग के फाइनल में जीत हासिल करने के बाद मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा भावुक हुए और ड्रेसिंग रूम में बात करते हुए अतीत की यादों में खो गए।

पढ़ें:- वार्नर को मिली ऑरेंज कैप, 5 अलग-अलग टीमों के बल्‍लेबाजों ने बनाए 500 से ज्‍यादा रन

मुंबई ने रविवार को अपनी चिर प्रतिद्वंद्वी चेन्नई को मात देकर चौथी बार आईपीएल का खिताब अपने नाम किया। जब सभी तरह की आवाजें ड्रेसिंग रूम में शांत हो रही थीं और विजेता होने का अहसास रोहित के जहन में घर कर गया था तब इस कप्तान ने 20 मार्च 2018 को याद किया जब दिल्ली ने फिरोज शाह कोटला मैदान पर मुंबई के सफर को खत्म किया था क्योंकि दिल्ली के हाथों मिली हार के कारण मुंबई बीते सीजन प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाई थी। यही टीम रविवार को सभी के आकर्षण का केंद्र रही। पहले इसी टीम की काबिलियत पर सभी शक कर रहे थे, लेकिन कप्तान ने अपनी टीम का साथ दिया। मुश्किल समय में कप्तान से मिले समर्थन से खिलाड़ियों का विश्वास बढ़ा और टीम चौथी बार आईपीएल जीती।

पढ़ें:- रोहित ने मलिंगा को शार्दुल के खिलाफ धीमी गेंद डालने की दी थी सलाह

रोहित ने जीतने के बाद कहा, “बीते साल दिल्ली में हम प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाए थे। मैंने यही कहा था कि यह हमारे पास शानदार टीम है। 2018 सीजन में हमारा सफर उम्मीदों के मुताबिक नहीं गया था, लेकिन मुझे भरोसा था कि यह टीम चमत्कार कर सकती है। आज हमने अपने आप को साबित किया है। यह हमारी टीम की पहचान है। हमने आखिरी तक हर किसी पर विश्वास किया। हम में से हर कोई इस सीजन शानदार खेला और मैं ऐसा भाग्यशाली खिलाड़ी बना जिसने यह ट्रॉफी उठाई। इसलिए आप सभी को धन्यवाद, खिलाड़ियों को, सपोर्ट स्टाफ को, प्रबंधन को, हर किसी को जो इस सफर में हमारे साथ रहा।”

पढ़ें:- चेन्नई के कोच ने माना टीम में उम्रदराज खिलाड़ी, बदलाव की जरूरत

सूत्रों की मानें तो इस साल ईडन गार्डन्स में कोलकाता के खिलाफ मिली हार के बाद टीम के मालिक नीता अंबानी, आकाश ने टीम से बात की थी और खिलाड़ियों से अपने आप पर विश्वास रखने को कहा था। आकाश ने तो यहां तक कहा था कि जब कोलकाता वानखेड़े में आए तो हार का बदला लिया जाए। मुंबई ने न सिर्फ उस हार का बदला लिया बल्कि इसके बाद सीजन के दो और मैच जीत चैम्पियंस का तमगा हासिल किया।