IPL 2019 Final: Rohit Sharma says Wanted Lasith Malinga to try a slower delivery against Shardul Thakur
Lasith Malinga, Shardul Thakur and Rohit Sharma

चेन्नई के खिलाफ आखिरी ओवर में रोहित शर्मा की शानदार कप्तानी और सूझबूझ ने मुंबई को चौथी बार इंडियन प्रीमियर लीग का चैंपियन बनाया। मुंबई के कप्तान रोहित को शार्दुल ठाकुर के शॉट्स के बारे में बखूबी पता था। यही वजह थी कि उन्होंने लसिथ मलिंगा से धीमी गेंद डालने को कहा। रोहित की यह सलाह आईपीएल के रोमांचक फाइनल में मास्टरस्ट्रोक साबित हुआ।

रोहित ने शार्दुल को ललचाने के लिए ऑन साइड खुली छोड़ी थी। मलिंगा ने धीमी गेंद डालकर शार्दुल को आखिरी गेंद पर LBW कर दिया और मुंबई एक रन से खिताब जीत गया।

पढ़ें:- IPL 2019 Final: मुंबई ने रिकॉर्ड चौथी बार खिताब जीत रचा इतिहास

शार्दुल के साथ प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेल चुके रोहित को बखूबी पता था कि उसे कैसे आउट करना है। मैच के बाद रोहित ने कहा ,‘‘हमारा फोकस उनको आउट करने पर था। मैं शार्दुल को बखूबी जानता हूं और मुझे पता था कि वह कहां मारना चाहेगा। मैने और मलिंगा ने तय किया कि हम धीमी गेंद डालेंगे। मुझे पता था कि वह बड़ा शॉट खेलने की कोशिश करेगा और ऐसे में कैच आउट हो सकता है। वैसे इसका नतीजा कुछ भी हो सकता था।’’

पिछले ओवर में महंगे साबित हुए मलिंगा ने कप्तान के भरोसे पर खरे उतरते हुए आखिरी ओवर बेहतरीन डाला। रोहित ने आखिरी ओवर मलिंगा से करवाने के फैसले के बारे में कहा ,‘‘इसका परिणाम उलटा भी हो सकता था। लेकिन उस समय मैं अनुभव को तरजीह देना चाहता था जो इन हालात का पहले भी सामना कर चुका हो। मलिंगा कई बार ऐसे हालात देख चुका है तो हमने उस पर भरोसा किया।’’

पढ़ें:- चेन्नई के कोच ने माना टीम में उम्रदराज खिलाड़ी, बदलाव की जरूरत

इससे पहले 2017 फाइनल में मुंबई ने राइजिंग पुणे सुपरजाइंटस को एक रन से हराया था। उसमें ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज मिशेल जॉनसन ने विरोधी टीम को आखिरी ओवर में 11 रन नहीं बनाने दिए।

रोहित ने कहा ,‘‘मुझे याद है जब हम 2017 में जीते थे। जॉनसन ने आखिरी ओवर किया था और 10 रन ही रन दिए। कई बार आपको दिल की आवाज सुननी होती है और मुझे लगता है कि अनुभव पर भरोसा करके गलती नहीं की।’’

रोहित पांच आईपीएल खिताब जीत चुके हैं जिनमें चार मुंबई और एक डेक्कन चार्जर्स के साथ जीता था। उन्होंने कहा ,‘‘डेक्कन चार्जर्स का तो मैं भूल ही गया था। यह तय करना मुश्किल है कि कौन सा खिताब सबसे खास है क्योंकि सबके लिए बहुत मेहनत लगती है। मेरे लिए सभी यादगार हैं।’’