IPL 2019: Tamil Nadu government will take call on IPL Final match in Chennai
MA Chidambaram Stadium in Chennai (File Photo) @ BCCI

बीसीसीआई के अधिकारी जल्द ही तमिलनाडु क्रिकेट संघ टीएनसीए अधिकारी के साथ बैठक करेंगे। बैठक में इस बात पर फैसला लिया जाएगा कि क्या एम.ए. चिदम्बरम स्टेडियम के तीन स्टैंड-आई. जे. और के. इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें संस्करण के फाइनल के लिए खुले रहेंगे या नहीं।

पढ़ें:- राजस्‍थान के लिए पारी की शुरुआत करने से मेरा खेल पहले से अच्‍छा हुआ: जोस बटलर

टीएनसीए के अधिकारियों का मानना है कि इसमें तमिलनाडु सरकार को दखल देना होगा ताकि चेन्नई के प्रशंसक अपने शहर में फाइनल देखने से न चूक पाएं। चेन्नई नगर निगम ने तीन स्टैंड बंद कर रखे हैं क्योंकि 2011 विश्व कप के पहले से इनके नवीनीकरण की मंजूरी का मामला फंसा हुआ है। चेन्नई मौजूदा डिफेंडिंग चैपिंयन है और आईपीएल के नियम के हिसाब से चेन्नई का चेपॉक स्टेडियम सीजन के पहले और फाइनल मैच की मेजबानी करेगा। इसके अलावा चेन्नई को दो प्लेऑफ की मेजबानी भी करनी है, लेकिन बोर्ड के अधिकारियों का मानना है कि अगर तीन स्टैंड खाली रहते हैं तो यह देखने में अच्छा नहीं लगेगा।

पढ़ें:- IPL के प्रदर्शन पर विराट को आंका नहीं जा सकता- दिलीप वेंगसरकर

टीएनसीए के अधिकारी ने कहा कि इस पर अंतिम फैसला राज्य सरकार पर है क्योंकि संघ इसमें कुछ नहीं कर सकती। अधिकारी ने कहा, “हम अपने प्रयास कर रहे है, चूंकि यह आम चुनावों का समय है तो इस समय राजनेता और प्रशसनीय अधिकारी काफी व्यस्त हैं। देखते हैं कि क्यों होता है।”

अधिकारी ने कहा कि संघ इस बात को समझती है कि इससे वित्तीय तौर पर भी नुकसान होगा क्योंकि तीन स्टैंड में कम से कम 12,000 लोग बैठते हैं। उन्होंने कहा, “बात यह है कि प्लेऑफ और फाइनल ऐसे मैच हैं जिनसे कमाई होती है। अन्य मैचों के उलट, नॉकआउट मैचों का पैसा बोर्ड को जाता है, और हम उन्हें किसी तरह की स्थिति में नहीं फंसा सकते। संघ की स्थिति भी हमें निश्चित तौर पर देखनी होगी।”

पढ़ें:- पूर्व चयनकर्ता ने नंबर 4 के लिए सुझाया इस बल्लेबाज का नाम

प्रशासकों की समिति ने आईपीएल गर्विनंग काउंसिल पर प्रतिबंध लगाया दिया है और आईपीएल के 12वें सीजन की देखभाल के लिए एक एडहॉक समिति का गठन किया गया है।