इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) में सबसे ज्यादा बार हैट्रिक लेने वाले अमित मिश्रा (Amit Mishra) यूएई की पिचों पर गेंदबाजी करने को लेकर काफी उत्साहित हैं। भारत में बढ़ते कोरोना वायरस मामलों की वजह से आईपीएल के 13वें सीजन का आयोजन यूएई में किया जा रहा है। जिसका पहला मैच शनिवार को मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) और चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) के बीच अबू धाबी में खेला जाएगा।

टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में आईपीएल में अपनी सफलता के बारे में मिश्रा ने कहा, “मैंने हमेशा अपनी ताकत पर ध्यान लगाने और मैं हमेशा से जैसी गेंदबाजी करता आ रहा हूं वैसी ही गेंदबाजी करने की कोशिश की है। मैंने उसमें थोड़े वैरिएशन लाने की कोशिश की। हालांकि, विकेट लेने सबसे बड़ा लक्ष्य होता है। और उसके लिए योजना बनाने जरूरी है और मुझे याद है, अब तक ये सब अच्छे से काम किया है, देखते हैं कि इस सीजन क्या होता है।”

नए सीजन, नए वेन्यू में अपनी गेंदबाजी शैली में बदलाव करने के सवाल पर उन्होंने कहा, “मैं बल्लेबाज के हिसाब से अपनी गेंदे बदलता हूं। मैं स्थिति को समझने की कोशिश करता हूं और उसे दिमाग में रखकर मैं गेंदबाजी करता हूं। मेरा वैरिएशन जो भी हो, मेरा ध्यान बल्लेबाज पर ही होता है। उसका शॉट सेलेक्शन कैसे है, क्या ताकत है, क्या कमजोरी है, फिर उसी हिसाब से मैं अपने वैरिएशंस को इस्तेमाल करता हूं।”

मिश्रा 13वें सीजन में दिल्ली कैपिटल्स की ओर से खेलेंगे, जहां उन्हें दिग्गज ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन का साथ मिलेगा। ये दो शीर्ष भारतीय स्पिनर मिलकर यूएई की धीमी ट्रैक्स पर बल्लेबाजों के लिए बड़ी मुश्किलें खड़ी कर सकते हैं।

टॉप क्लास स्पिनर होने की बावजूद मिश्रा के लिए राष्ट्रीय टीम में वापसी करना लगभग असंभव है और इसका कारण है कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की सुपरहिट जोड़ी। इसके बावजूद मिश्रा खुद को राष्ट्रीय कॉल के लिए तैयार रख रहे हैं।

टेस्ट हो या वनडे या फिर टी20, अमित मिश्रा टीम इंडिया के लिए हर फॉर्मेट खेलने को तैयार हैं। उन्होंने कहा,”मैं अपनी फिटनेस को मैनेज कर रहा हूं और मुझे लगता है कि मैं भारत के लिए खेलने के लिए तैयार हूं। मैंने अपने विकल्प खुले रखे हैं लेकिन मैं भारत के लिए खेलने को हमेशा तैयार हूं।”