कोरोना वायरस (Corornavirus) के लगातार बढ़ रहे प्रभाव के बीच भारत की मशहूर इंडियन प्रीमयर लीग (IPL 2020) के आयोजन को लेकर असमंजसता भी बढ़ती जा रही है। टूर्नामेंट के आयोजन को लेकर मंगलवार को बीसीसीआई और सभी आठ फ्रेंचाइजी के मालिकों के बीच होने वाले कॉन्फ्रेंस कॉल के रद्द होने के बाद लगने लगा है कि शायद इस साल आईपीएल का आयोजन नहीं हो पाएगा। हालांकि टीम मालिकों को इससे कोई परेशानी नहीं है।

पीटीआई से बातचीत में आईपीएल की किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) फ्रेंचाइजी के मालिक नेस वाडिया ने कहा, “इंसानियत पहले है, बाकी सब उसके बाद आता है। अगर हालात नहीं सुधरते तो इस बारे में बात करने का कोई मतलब नहीं। अगर आईपीएल का आयोजन नहीं हो पाता है तो वही सही।”

पंजाब टीम के सह मालिक ने आगे कहा, “इस समय तो मैं आईपीएल के बारे में सोच भी नहीं सकता। जो कुछ हो रहा है, उसके बीच इसका कोई मतलब नहीं है। जो चीज इस समय मायने रखती है वो ये कि हम जी रहे हैं और तीसरे विश्व युद्ध जैसी स्थिति में हैं, जहां हम लोगों की जिंदगी बचाने के लिए लड़ रहे हैं।”

उन्होंने कहा, “सरकार ने जरूरी कदम उठाए हैं। हम अक्सर सरकार की आलोचना करते हैं लेकिन उन्होंने जो कदम उठाए हैं उसके लिए उनकी प्रशंसा की जानी चाहिए। भारत जैसे बड़े देश में सारी फ्लाइट्स रद्द कर दी गई हैं। ये एक बहुत बड़ा और बहुत सकारात्मक कदम है।”

भारत सरकार के निर्देश के अनुसार 31 मार्च तक के लिए सभी फ्लाइट्स के साथ लगभग सभी ट्रेन और बसें भी रद्द कर दी गई हैं। यानि कि हम लॉकडाउन जैसी स्थिति में आ पहुंचे हैं। ऐसे में खेल आयोजन प्राथमिकता नहीं है। आईपीएल एकलौता ऐसा टूर्नामेंट नहीं है जिसे कि कोरोना वायरस के प्रभाव के चलते रद्द करना पड़ सकता है। जापान में होने वाले ओलंपिक खेल भी रद्द होने की स्थिति में हैं।