IPL 2020: CSK player KM Asif becomes the first player to breach the bio bubble
चेन्नई सुपर किंग्स (AFP)

चेन्नई सुपर किंग्स टीम के केएम आसिफ इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन में बायो सिक्योर बबल प्रोटोकॉल तोड़ने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं। द इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक सीएसके के इस खिलाड़ी को तय नियों के मुताबिक 6 दिन के क्वारेंटीन में रखा गया था, जिसके बाद अब वो टीम के साथ अभ्यास कर रहे हैं।

आईपीएल से जुड़े सूत्र ने अखबार को दिए बयान में बताया कि आसिफ अपने होटल के कमरे की चाभी भूल गए थे। जिसके बाद वो कमरे का दरवाजा खुलवाने के लिए रिसेप्शन पर गए जो कि नियमों के खिलाफ है। चूंकि रिसेप्शनिस्ट को टीम के बायो सिक्योर बबल के अंदर आने के अनुमति नहीं है।

सूत्र ने कहा, “ये अनजाने में हुई गलती थी लेकिन नियमों का पालन करना जरूरी थी। वो 6 दिन के क्वारेंटीन में गया था और अब टीम के साथ अभ्यास कर रहा है।”

गौरतलब है कि सीएसके ही वो टीम थी, जिसके 13 सदस्या यूएई पहुंचने के बाद हुए कोरोना टेस्ट में पॉजिटिव पाए गए थे। ऐसे में टीम मैनेजमेंट कोई खतरा नहीं उठाना चाहेगा।

IPL 2020: मैच जीतने के बावजूद खुश नहीं हैं दिनेश कार्तिक, कहा- अभी करना है और सुधार

आसिफ को भले ही 6 दिन के क्वारेंटीन के बाद अभ्यास करने की अनुमति मिल गई हो लेकिन टीम को इस गलती के लिए भारी जुर्माना देना पड़ सकता था।

बीसीसीआई के नियमों के मुताबिक अगर कोई खिलाड़ी पहली बार प्रोटोकॉल तोड़ता है तो उसे 6 दिन के लिए क्वारेंटीन किया जाएगा, दूसरी बार नियम तोड़ने पर खिलाड़ी को एक मैच से सस्पेंड किया जाएगा और तीसरी बार ऐसा करने पर खिलाड़ी को टीम से बाहर तक निकाल दिया जा सकता है, जबकि टीम को नया रिप्लेसमेंट भी नहीं दिया जाएगा।

अगर ऐसा होता है तो सीएसके टीम बड़ी मुश्किलों में आ जाएगी। पहले ही टीम के दो सीनियर खिलाड़ी- सुरेश रैना और हरभजन सिंह टूर्नामेंट से बाहर हो चुके हैं, जिनके रिप्लेसमेंट का ऐलान नहीं किया गया है।