IPL 2020: first game is full of excitement and anxiety, says CSK Coach Stephen Fleming
स्टीफेन फ्लेमिंग, महेंद्र सिंह धोनी (IANS)

मुंबई इंडियंस के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग के सीजन ओपनर मैच से पहले चेन्नई सुपर किंग्स के कोच स्टीफेन फ्लेमिंग का कहना है कि कोविड-19 से प्रभावित खिलाड़ियों की वजह से मिले अतिरिक्त क्वारेंटीन ब्रेक की वजह से स्क्वाड के अनुभवी खिलाड़ियों को मदद मिली।

बीसीसीआई के नियमों के मुताबिक युएई पहुंचने पर सभी टीमों को 6 दिन का क्वारेंटीन में रहना था और इसी दौरान खिलाड़ियों के कोविड टेस्ट भी होने थे। लेकिन सीएसके टीम के 13 सदस्यों के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद चेन्नई टीम को 7 दिन के अतिरिक्त क्वारेंटीन में रहना पड़ा।

कोच फ्लेमिंग इसे सकारात्मक नजरिए से देख रहे हैं। उन्होंने कहा, “हमारा शुरुआत अच्छी नहीं रही लेकिन हमने इसे अच्छे से संभाला, हमारा रवैया शांत था। देखा जाय तो, अब तक हमने जो प्री सीजन ट्रेनिंग की है और जो अतिरिक्त दिन कमरों मे बिताए हैं वो एक तरह से अच्छा ही था। वो ब्रेक टीम के सीनियर और अनुभवी खिलाड़ियों के काम आ सका।”

ओपनिंग मैच के बारे में उन्होंने कहा, “पहला मैच हमेशा घबराहट और उत्साह से भरा होता है और सीएसके-मुंबई का मैच हो तो दबाव भी ज्यादा रहता है लेकिन हम इसका आनंद लेते हैं। मुंबई अच्छी टीम है और इस मैच में हमे पता चलेगा कि प्री सीजन अभ्यास कैसा गया और किन जगहों पर सुधार करने की जरूरत है।”

IPL 2020, MI vs CSK, Preview: फाइनल मैच की हार का बदला लेने उतरेगी एमएस धोनी की आर्मी

कोरोना वायरस के बीच बायो सिक्योर बबल में खेले जा रहे टूर्नामेंट पर उन्होंने कहा, “रणनीतिक तौर पर यह टूर्नामेंट काफी अलग होने वाला है। इस बार घरेलू मैदान का फायदा- इस तरह की कोई चीज नहीं होगी। हमें हर मैदान पर स्थिति के साथ सामंजस्य बैठाना सीखना होगा। हम तीन अलग-अलग मैदानों- अबु धाबी, दुबई और शरजाह में खेलेंगे।”

उन्होंने कहा, “हर मैदान को परखना जरूरी है और हमें इसमें बेहतर होना होगा और टीम चुनने में भी। इसके अलावा हमें मैच के लिए सही गेम प्लान की जरूरत होगी। यह ऐसा है कि हर मैच हमें बाहर खेलना है। अबु धाबी आना एक चुनौती रहा है। पिच को परखने और सही संयोजन चुनने के लिए हमें काफी अच्छा होना होगा। सभी आईपीएल टीमों के लिए सबसे बड़ी चुनौती सही संयोजन चुनना होगा।”