दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) के खिलाफ मैच में 18 रन से मिली करारी हार के बाद कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के बल्लेबाज इयोन मोर्गन (Eoin Morgan) ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि वो ज्यादा देर से बल्लेबाजी करने उतरे थे।

रविवार को खेले गए मैच में 229 रनों के लक्ष्य का पीछा करते समय आंद्रे रसेल (Andre Rusell) को मोर्गन से आगे बल्लेबाजी करने का मौका दिया गया था, जो कि फैंस को पसंद नहीं आया। मोर्गन जब छठें नंबर पर खेलने उतरे तो जीत के लिए 43 गेंदो पर 112 रनों की जरूरत थी। मोर्गन ने मात्र 18 गेंदो पर एक चौके और पांच छक्कों की मदद से 44 रनों की पारी खेली लेकिन केकेआर को जीत दिलाने में नाकाम रहे।

मैच के बाद मोर्गन ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि मैं उतना देर से बल्लेबाजी करने उतरा था। जब आप बल्लेबाजी क्रम की तरफ देखें को आपको दिखेगा कि हमारी टीम में कितने मैचविनर हैं। इसलिए बल्लेबाजी क्रम में ऊपर आना मुश्किल है, खासकर तब जब आपके पास आंद्रे रसेल जैसा विश्वस्तरीय ऑलराउंडर हैं।”

इंग्लिश कप्तान ने कहा, “वो दिल्ली के खिलाफ मैच में ऊपर आया है तो जाहिर है कि बाकी सभी खिलाड़ी नीचे शिफ्ट हो गए। खेल के हिसाब से, हम कुछ 8 गेंद पीछे थे। दिल्ली ने अच्छी गेंदबाजी की। दिल्ली ऐसी टीम है जो इस टूर्नामेंट में सबसे प्रभावी लग रही है।”

मोर्गन ने राहुल त्रिपाठी के साथ मिलकर 78 रनों का साझेदारी बनाई। मोर्गन एनरिक नॉर्टजे की गेंद पर आउट हुए लेकिन त्रिपाठी आखिर तक टिके रहे। आखिरी ओवर में जीत के लिए 26 रनों की जरूरत थी लेकिन मार्कस स्टोइनिस ने त्रिपाठी को बोल्ड कर दिल्ली को जीत दिलाई।

मोर्गन ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि गेंदबाजी में हमारी ओर से ज्यादा गलतियां हूं। जब आप शरजाह आते है तो आप 200 से ज्यादा रन बनने की उम्मीद करते हैं। हम आखिरी ओवर तक मुकाबले में थे।”

उन्होंने कहा, “हमारी बल्लेबाजी खेल में आगे थी। नितीश राणा ने अच्छा खेला। राहुल ने भी अलग तरह से गेंद को हिट किया। जब वो बल्लेबाजी क्रम में नीचे खेलता है और इस तरह की पारी बनाता है तो ये हमारे लिए सकारात्म है। ये लगभग रसेल जैसा है। इसलिए बहस ये होगी कि आप उसे वहां क्यों नहीं रखना चाहेंगे जहां वो है।”

सलामी बल्लेबाज के तौर पर लगातार मौके दिए जाने के बावजूद प्रदर्शन करने में असफल रहे सुनील नरेन के बारे में मोर्गन ने कहा, “सुनील उस तरह का खिलाड़ी है जो आईपीएल में मैचविनिंग पारियां खेल सकता है। जब आप उसकी पिछले सीजन की पारियों को देखते हैं तो वो लगातार अच्छी पारियां नहीं रही थी। वो हमेशा सकारात्मक रवैया अपनाता है और हम उसी तरह से क्रिकेट खेलना चाहते हैं।”