लगातार चौथे मैच में हार के बाद निराश हुए किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) के कप्तान केएल राहुल (KL Rahul) को सलाह देते हुए पूर्व भारतीय बल्लेबाज ने कहा कि अगर वो पंजाब टीम को सफलता दिलाना चाहते हैं तो उन्हें दूसरों कि चिंता करना बंद करना होगा।

टाइम्स ऑफ इंडिया के अपने कॉलम में मांजरेकर ने लिखा, “पंजाब को अंकतालिका में ऊपर जाने के लिए केएल राहुल को दूसरी की चिंता बंद करनी होगी। इस टूर्नामेंट में मेरी पसंदीदा चीजों में कप्तान केएल राहुल और कप्तानी का उनकी बल्लेबाजी पर पड़ने वाला प्रभाव है।”

उन्होंने लिखा, “सबसे पहली बात, राहुल एक बेहतरीन खिलाड़ी है, जो कि मॉर्डन समय में 360 डिग्री गेम खेलता है और वो अकेला ऐसा खिलाड़ी है जो इस क्लासिक बनाता है।”

राहुल आईपीएल 2020 के सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में शामिल हैं लेकिन उनकी टीम जीत हासिल करने में नाकाम रही है।

मांजरेकर ने लिखा, “जब वो लीग से हटकर शॉट खेलता है तो कुछ भी लय से बाहर नहीं लगता। वो शॉट भी उतने ही सुंदर लगते हैं जितनी एक क्लासिक कवर ड्राइव। साल 2018 राहुल के लिए बेहतरीन साल था, जब हमने उसे एक शानदार टी20 खिलाड़ी के तौर पर उभरते हुए देखा।”

उन्होंने कहा, “वो टी20 दिग्गजों के बराबर है, खासकर जब बात स्ट्राइक रेट की होती है। उसने पिछले सीजन 158 की स्ट्राइक रेटसे 659 रन बनाए थे।”

2019 के आईपीएल सीजन के बारे में उन्होंने लिखा, “अगले सीजन मैंने कुछ बदलाव देखा, वो उतनी आजादी से नहीं खेल रहा था। ऐसा लग रहा था कि वो खुद को रोक रहा है। ये वो मामला था जब एक बल्लेबाज जो कि आसानी से बड़े स्कोर बना सकता है उसके लिए तैयार नहीं था।”

पूर्व क्रिकेटर ने आगे लिखा, “जब मैं 2019 सीजन के उसके आंकड़ों को देखता हूं तो स्ट्राइक रेट काफी गिरा था, (158 से 130) इस साल उसका स्ट्राइक रेट फिर से 130 के आसपास है। मुझे नहीं लगता कि कप्तानी की जिम्मेदारी उसे पीछे खींच रही है बल्कि उसका 2018 के मुकाबाले अपने विकेट पर और बड़ा प्राइस टैग रखना उस पर दबाव डाल रहा है।”