IPL 2020: Ishan Kishan was tired, Mumbai Indians needed fresh batsmen for Super Over against Virat Kohli’s RCB ; Says Mahela Jayawardene
Hardik Pandya with Mahela Jayawardene @mi twitter

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (Royal Challengers Bangalore) ने सुपर ओवर में मुंबई इंडियंस (Mumabi Indians) को हराकर आईपीएल 2020  (IPL 2020) में अपनी दूसरी जीत दर्ज की। इस मैच में बाएं हाथ के बल्लेबाज इशान किशन (Ishan Kishan) ने 99 और ऑलराउंडर कीरोन पोलार्ड (Kieron Pollard) ने 60 रन की पारी खेली जिसकी बदौलत मुंबई टीम आरसीबी (RCB) के 201 रन की बराबरी करने में सफल रही।

मैच का नतीजा हालांकि सुपर ओवर से निकला जहां मौजूदा चैंपियन टीम ने पोलार्ड के साथ हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) को भेजने का फैसला किया। यह रणनीति हालांकि नाकाम रही और नवदीप सैनी (Navdeep Saini) के ओवर में टीम सात रन ही जुटा सकी और मैच हार गई।

आक्रामक बल्लेबाजी कर रहे इशान किशन (Ishan Kishan ) को सुपर ओवर में बल्लेबाजी के लिए नहीं भेजने के मुंबई इंडियंस के फैसले ने कई लोगों को हैरान किया होगा लेकिन टीम के मुख्य कोच महेला जयवर्धने ने इस रणनीति का बचाव करते हुए कहा है कि उन्हें अपने अनुभवी खिलाड़ियों पर भरोसा था कि वे काम पूरा करेंगे।

IPL 2020: बैंगलोर ने सुपरओवर में मुंबई को दी मात

जयवर्धने ने कहा कि लंबी पारी खेलने के बाद किशन थकान महसूस कर रहे थे। इस श्रीलंकाई कोच ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘अगर आप देख सकते तो उस समय वह (किशन) काफी थका हुआ था और हम सोच रहे थे कि हमें कुछ तरोताजा खिलाड़ियों की जरूरत है जो बड़े शॉट खेल सकें। बाद में ऐसा कहना आसान है लेकिन पोलार्ड और हार्दिक ने अतीत में सुपर ओवर में अच्छा काम किया है, दो अनुभवी खिलाड़ी जो काम को अंजाम देने में सक्षम हैं।’

कोच ने कहा, ‘आपको इन फैसलों को लेकर जोखिम उठाना पड़ता है और ये किसी के भी पक्ष में जा सकते हैं। अगर हमने 10 या 12 रन बनाए होते तो कुछ भी हो सकता था।’ जयवर्धने ने स्वीकार किया कि जसप्रीत बुमराह जैसी क्षमता वाले गेंदबाज के लिए भी सात रन का बचाव करना बेहद मुश्किल था।

रोहित ने इशान किशन को Super Over में नहीं भेजने की बताई ये वजह

उन्होंने कहा, ‘सुपर ओवर में हम तीन गेंद पर रन नहीं बना पाए, यहीं हमें नुकसान हुआ। हमने विकेट गंवाया और फिर दो गेंद खाली खेली।’ जयवर्धने ने कहा कि उन्होंने जल्दी विकेट गंवा दिए थे इसलिए किशन के लिए संदेश यही था कि वह मैच को अंत तक ले जाएं। बीच के ओवरों में हम यही चाहते थे कि वह अंत तक बल्लेबाजी करता रहे। हमें पता था कि वह उनके गेंदबाजों को दबाव में डाल सकता है इसलिए उसके लिए संदेश था कि अंत तक टिके रहो क्योंकि हमने कुछ विकेट गंवा दिए थे। उसने शानदार काम किया और जोखिम भी उठाए, उसने कुछ शानदार शॉट खेले। उसके और पोलार्ड के बीच साझेदारी शानदार रही और उन्होंने हमें लगभग जीत दिला दी थी।’