IPL 2020: Jadhav was send ahead of Jadeja and Bravo to dominate off-spinners, says CSK coach Stephen Fleming
केदार जाधव (Twitter)

कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के खिलाफ मैच में 10 रन से मिली करारी हार के बाद चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) टीम के फैंस ने केदार जाधव (Kedar Jadhav) को सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल किया है।

अबू धाबी में खेले गए इस मैच के दौरान जाधव जब बल्लेबाजी करने उतरे थे तब सीएसके को जीत के लिए 21 गेंदो पर 39 रन ही चाहिए थे लेकिन जाधव ना केवल बड़े शॉट लगाने में नाकाम रहे बल्कि उन्होंने दूसके छोर पर खड़े रवींद्र जडेजा को स्ट्राइक भी नहीं दी।

जाधव ने 12 गेंदो पर मात्र 7 रन बनाए और आखिर में चेन्नई 10 रन से ये जीता हुआ मैच हार गई। मैच के बाद चेन्नई टीम मैनेजमेंट के जाधव को जडेजा और ड्वेन ब्रावो से पहले बल्लेबाजी करने भेजने के फैसले की काफी आलोचना हुई।

इस फैसले के बारे में टीम के कोच स्टीफेन फ्लेमिंग ने कहा, “केदार जाधव ऑफ स्पिनर को अच्छा खेलता है, हमें लगा कि वो उस एरिया पर हावी हो सकेगा इसी वजह से जाधव को ब्रावो और जडेजा से पहले भेजा गया था। हमने सोचा था कि जडेजा आखिर में आकर मैच फिनिश करेगा।”

हालांकि फ्लेमिंग ने माना कि हार के बावजूद चेन्नई टीम का संतुलन ठीक है, ऐसे में एक अतिरिक्त बल्लेबाज को खिलाने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा, “हमारे पास कई बल्लेबाज हैं, इसलिए मुझे लगता है कि टीम का संतुलन छह बल्लेबाजों के साथ ठीक है, जबकि आठ नंबर पर ब्रावो है, हम फिलहाल उसे इस्तेमाल करने में संघर्ष कर रहे हैं। मुझे नहीं लगता कि अतिरिक्त बल्लेबाज को खिलाने से मदद मिलेगी।”

फ्लेमिंग ने कहा, “हमारे पास इतने सारे बल्लेबाज हैं। केदार भारत के लिए मध्य से निचले क्रम में बल्लेबाजी करता है। हम केकेआर के खिलाफ मैच में कई अलग अलग रास्तों पर जा सकते थे। केदार ने कुछ गेंदो को हिट किया लेकिन वो काम नहीं आया। आप हमेशा वापस जाकर अलग बल्लेबाज को अलग एरिया में भेज सकते हैं और तभी आपके पास चुनने के लिए इतने बल्लेबाज हैं।”

कोच ने कहा, “आपको कॉम्बिनेशन भी देखा होगा। सैम कर्रन और ड्वेन ब्रावो काफी अच्छे हैं। हमारे लिए चुनौती ये है कि हमारे दोनों ऑलराउंडर अच्छा खेल रहे हैं, वाटसन और फाफ ही अच्छा खेल रहे हैं। ऐसे में टीम में एक अंतरराष्ट्रीय गेंदबाज को फिट करना बेहद मुश्किल है, हम भारतीय गेंदबाजों पर निर्भर हैं।”

उन्होंने कहा, “शार्दुल और दीपक के साथ हमारे पास क्वालिटी भारतीय गेंदबाज हैं। टीम काफी संतुलित है लेकिन हमारे पास जिस तरह का अनुभव है, हमें केकेआर के खिलाफ मैच जीतना चाहिए था।”

मैच के टर्निंग प्वाइंट के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, “आदर्श स्थिति में, आप चाहेंगे कि एक-दो बल्लेबाज पारी के आखिर तक खेलें। अगर आप किसी आईपीएल टीम को मौका दें, तो उनके पास वापसी के लिए कुछ अच्छे ओवर होंगे।”

उन्होंने आगे कहा, “आखिर में नरेन के ओवरों ने चीजें मुश्किल कर दीं। अगर आपके पास एक ऐसा बल्लेबाज हो जो 75 से ज्यादा रन बना सके और अगले 4-5 ओवर तक साझेदारी बरकरार रख सके, तो मैच अलग ही होगा। कोलकाता टिकी रही, उन्होंने हम पर दबाव बनाया और हम पारी को तेज नहीं कर सके। मुझे लगता है कि हम निराश है कि हमने ये मैच हाथ से जाने दिया।”