क्रिकेट फैंस का लंबा इंतजार आखिरकार खत्म होने को आया है, आज से यूएई में इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) के 13वें सीजन का आगाज होगा। सीजन का पहला ही मैच टूर्नामेंट की दो सबसे प्रतिद्वंद्वी टीमों मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) और चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के बीच खेला जाएगा।

मुंबई और चेन्नई की प्रतिद्वंद्विता आईपीएल इतिहास की सबसे बड़ी प्रतियोगिताओं में से एक है। आंकड़ों की अगर बात करें तो मुंबई टीम 28 में से 17 मैचों में जीत के साथ चेन्नई, जिसने 11 मैच जीते हैं, उससे आगे है। वहीं पिछले सीजन में फाइनल समेत मुंबई के खिलाफ पाचों मैचो में से चेन्नई एक भी नहीं जीत सकी थी। बता दें कि मुंबई के अलावा कोई ऐसी टीम नहीं है जिसका जीत प्रतिशत चेन्नई के खिलाफ 40 प्रतिशत से ज्यादा का हो। चेन्नई के खिलाफ मुंबई का जीत प्रतिशत 60.71 का है।

पुराने रिकॉर्ड्स को छोड़कर अगर नए सीजन की बात करें तो इस बार दोनों ही टीमों में कुछ बदलाव हुए हैं। कई सीनियर खिलाड़ी इस बार टूर्नामेंट का हिस्सा नहीं हैं, वहीं कुछ नए खिलाड़ियों ने स्क्वाड में जगह बनाई है। यहां हम उन खिलाड़ियों के बारे में बात करेंगे जो सीजन ओपनर में मैच का रुख बदलने की काबिलियत रखते हैं।

महेंद्र सिंह धोनी: कप्तान धोनी और उनके फैंस के लिए ये मैच बेहद अहम होने वाला है। इस मैच में धोनी ना केवल जुलाई 2019 के बाद पहली बार मैदान पर उतरेंगे, बल्कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद ये उनका पहला मैच होगा। मुंबई के खिलाफ माही का रिकॉर्ड शानदार है। उन्होंने इस टीम के खिलाफ 663 रन बनाए हैं। ऐसे में इस मैच में भी उनके बल्ले से बड़ी पारी की उम्मीद होगी, खासकर इन हालातों में जब टीम के शीर्ष रन स्कोरर सुरेश रैना टूर्नामेंट का हिस्सा नहीं हैं।

रोहित शर्मा: मुंबई टीम के कप्तान रोहित शर्मा अपनी टीम के शीर्ष बल्लेबाज भी हैं। चूंकि इस सीजन उन्होंने सलामी बल्लेबाजी जारी रखने का फैसला किया है, ऐसे में मुंबई का बल्लेबाजी क्रम उन पर काफी निर्भर रहेगा। सीएसके के खिलाफ खेले 27 मैचों में रोहित ने मुंबई की ओर से सबसे ज्यादा 705 रन बनाए हैं।

ड्वेन ब्रावो: विंडीज ऑलराउंडर डीजे ब्रावो हाल ही में कैरेबियाई प्रीमियर लीग खेलकर यूएई पहुंचे हैं, ऐसे में उन्हें लय में आने में बिल्कुल समय नहीं लगेगा। ब्रावो ने आईपीएल में मुंबई के खिलाफ सर्वाधिक 25 विकेट लिए हैं। साथ ही वो निचले क्रम में शानदार बल्लेबाजी भी कर लेते हैं। ऐसे में अगर कोई खिलाड़ी मुश्किल हालातों में मैच पलटने का माद्दा रखता है तो वो ब्रावो ही हैं।

दीपक चाहर: स्पिन गेंदबाजों की मददगार अबू धाबी कि पिच पहले मुकाबले में अपेक्षाकृत कम धीमी होगी। ऐसे में बल्लेबाजों और तेज गेंदबाजों के लिए ये सबसे सही समय होगा। ऐसे में चेन्नई के प्रमुख तेज गेंदबाज दीपक चाहर नई गेंद के साथ कमाल दिखा सकते हैं। चाहर अगर शुरुआती ओवरों में मुंबई के शीर्ष क्रम बल्लेबाजों को पवेलियन लौटा देते हैं तो चेन्नई मैच पर पकड़ बना लेगी।

हार्दिक पांड्या: शीर्ष क्रम ढेर होने के बाद हार्दिक पांड्या ने कई बार मुंबई टीम को मुश्किलों से बाहर निकाला है। पांड्या मुंबई के सबसे अहम खिलाड़ी हैं क्योंकि वो बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग तीनों विभागों में योगदान देते। पहले मुकाबले में चेन्नई को इस ऑलराउंडर के खिलाफ योजना बनानी होगी।