IPL 2020 MI vs KKR Highlights: मौजूदा चैंपियन मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) नेअबु धाबी के शेख जायेद स्टेडियम में शुक्रवार रात खेले गए आईपीएल 2020 (IPL 2020) के 32वें मैच में कोलकाता नाइटराइडर्स (Kolkata Knight Riders) को 8 विकेट से पराजित कर दिया.  मुंबई की मौजूदा सीजन में ये छठी जीत है.  इस जीत से रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की कप्तानी वाली मुंबई 12 अंकों के साथ नेटरन रेट के आधार पर दिल्ली कैपिटल्स को पछाड़ प्वाइंट्स टेबल में शीर्ष पर पहुंच गई है.

कोलकाता की ओर से रखे गए 149 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई ने 16.5 ओवर में 2 विकेट पर जीत दर्ज कर ली.  आइए जानते हैं मुंबई के इस जीत के 5 कारणों को:-

क्विंटन डी कॉक और रोहित शर्मा की 94 रन की साझेदारी

ओपनर क्विंटन डी कॉक (Quinton de Kock) और कप्तान रोहित शर्मा ने टीम को धमाकेदार शुरुआत दिलाई.  दोनों ने 10.3 ओवर में पहले विकेट के लिए 94 रन की साझेदारी की.  रोहित शर्मा 36 गेंदों पर 35 रन बनाकर आउट हुए.  उन्होंने अपनी पारी में 5 चौके और एक छक्का लगाया.

डी कॉक की नाबाद 78 रन की पारी

दक्षिण अफ्रीका के विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक ने कप्तान का विकेट गिरने के बावजूद एक छोर संभाले रखा.  उन्होंने ऑलराउंडर हार्दिक पांडया (Hardik Pandya) के साथ मिलकर तीसरे विकेट के लिए नाबाद 38 रन की साझेदारी की.  डी कॉक ने 44 गेंदों पर 9 चौकों और 3 छक्कों की मदद से नाबाद 78 रन बनाए.

हार्दिक पांड्या की 11 गेंदों पर 21 रन की नाबाद पारी

हार्दिक ने 11 गेंदों पर नाबाद 21 रन की पारी खेली जिसमें 3 चौके और एक छक्का शामिल था. पांडया ने मुंबई की पारी के 16वें ओवर की दूसरी गेंद पर पैट कमिंस को चौका जड़ दिया.  इसके बाद चौथी गेंद पर भी चौका बटोरा वहीं पांचवीं गेंद को 6 रन के लिए बाउंड्री के पार भेज दिया.

राहुल चाहर ने अपने पहले ओवर में लिए 2 विकेट

स्पिनर राहुल चाहर (Rahul Chahar) ने अपने पहले जबकि कोलकाता नाइटराइडर्स के 8वें ओवर में लगातार 2 गेंदों पर 2 विकेट निकालकर कोलकाता को दबाव में ला दिया.  चाहर ने पहले युवा ओपनर शुबमन गिल (Shubman Gill) को किरोन पोलार्ड के हाथों कैच कराया.  इसके बाद उन्होंने अगली गेंद पर पूर्व कप्तान दिनेश कार्तिक को बोल्ड कर दिया.  राहुल ने अपने 4 ओवर के स्पैल में सिर्फ 18 रन खर्च किए.

गेंदबाजों ने बनाया दबाव

मुंबई के तेज गेंदबाजों ने शुरू से ही कोलकाता के बल्लेबाजों पर दबाव बनाए रखा.  ट्रेंट बोल्ट, नेथन कूल्टर नाइल, क्रुणाल पांडया और जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumbrah) ने कोलकाता के बल्लेबाजों को खुलकर खेलने की आजादी नहीं दी.   गेंदबाजों ने कसी हुई गेंदबाजी की जिसकी वजह से बल्लेबाज बड़े शॉट खेलने की कोशिश में नियमित अंतराल पर विकेट गंवाते गए.  इसका फायदा राहुल चाहर ने बखूबी उठाया.