बढ़ते कोरोना वायरस मामलों की वजह से इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) के 13वें सीजन में हिस्सा लेने दुबई पहुंचे खिलाड़ियों की परेशानी भी बढ़ती जा रही है। हाल ही में आईपीएल की चैंपियन टीम चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के दो खिलाड़ियों समेत 13 सदस्यों का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आया है। वहीं टीम के सीनियर खिलाड़ी सुरेश रैना (Suresh Raina) ने ‘निजी कारणों’ से टूर्नामेंट से नाम वापस ले लिया है और शनिवार को वो भारत लौट आए हैं।

सीएके ने मुख्य कार्यकारी अधिकारी काशी विश्वनाथन ने बयान ट्वीट कर बताया, ‘‘सुरेश रैना निजी कारणों से भारत लौट आये हैं और आईपीएल के शेष सत्र के लिए उपलब्ध नहीं रहेंगे। चेन्नई सुपर किंग्स इस दौरान सुरेश और उनके परिवार को पूरा समर्थन देगा।’’

समझा जाता है कि कोरोना वायरस के इतने मामलों से खिलाड़ी और सहयोगी स्टाफ काफी परेशान है। उम्मीद है कि रैना आज बयान जारी कर अपने भारत लौटने का कारण बताएंगे। फ्रेंचाइजी से जुड़े सूत्र ने कहा कि आईपीएल के सबसे बड़े खिलाड़ियों में शामिल रैना को अपने परिवार के साथ समय देने की जरूरत थी।

सीएसके शिविर से जुड़े एक सूत्र ने पीटीआई से बातचीत में कहा, ‘‘सुरेश की अनुपस्थिति सीएसके के लिए एक बड़ा झटका होगा और इसके साथ ही वह आईपीएल के सबसे बड़े खिलाड़ियों में से एक है। मौजूदा समय में अगर कोई भी खिलाड़ी शत प्रतिशत महसूस नहीं करता है और उसकी कुछ अन्य जरूरी प्राथमिकताएं हैं, तो कोई भी टीम उसका सम्मान करती है और सीएसके उससे अलग नहीं है।’’

आधिकारिक तौर पर हालांकि रैना की स्थिति के बारे में कुछ साफ नहीं है लेकिन अटकलें लगाई जा रहीं है कि टीम में कोविड-19 के बढ़ते मामलों से वो परेशान थे। अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है लेकिन ऐसी भी अटकलें हैं कि उनके परिवार में कोई त्रासदी हुई है ।

चेन्नई टीम के घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले आईपीएल के एक सूत्र ने बताया ,‘‘कोरोना के इतने मामले आने के बाद रैना खेलने के मूड में नहीं था। वो अपने बच्चों के पास लौटना चाहता था।’’

वहीं ऐसी भी खबर है कि वह पठानकोट में कथित तौर पर लूटपाट के प्रयास में अपने 58 वर्षीय अंकल अशोक कुमार की हत्या से काफी दुखी थे। उनके चार रिश्तेदारों को चोटें आई है। पुलिस ने बताया कि पंजाब के पठानकोट में थारियाल गांव में ये घटना 19 और 20 अगस्त के बीच की है।

कई सूत्रों ने हालांकि इस वजह को खारिज किया। उन्होंने कहा, ‘‘ये दुखद घटना है लेकिन ये जिस समय हुई, उस समय रैना चेन्नई में ही थे। ये कह सकते हैं कि इस समय उनका फोकस क्रिकेट पर नहीं था।’’

समझा जाता है कि टूर्नामेंट अभी खतरे में नहीं है, लेकिन एक फ्रेंचाइजी ‘कोविड-19 हॉटस्पॉट’ बन रही है, जो धीरे-धीरे अन्य टीमों के साथ-साथ बीसीसीआई के लिए भी एक मुद्दा बन रहा है।

अधिकारी ने कहा, ‘‘अगर सिर्फ एक टीम में 13 मामले हैं तो यह सभी के लिए एक मुद्दा है। सबसे बड़ा पहलू यह होगा कि क्या विदेशी क्रिकेटर अब घबराने लगेंगे क्योंकि वे इन मुद्दों को लेकर अधिक सतर्क रहते हैं। हमें खिलाड़ियों के मानसिक स्वास्थ्य पर नजर रखनी होगी।’’

भारत में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण आईपीएल के आगामी सीजन का आयोजन संयुक्त अरब अमीरात में 19 सितंबर से हो रहा है।