अपने पहले आईपीएल खिताब का इंतजार कर रही पंजाब की टीम इस बार नए नाम के साथ अपनी किस्मत आजमाने मैदान में उतरेगी. अब उसने अपना नाम बदलकर पंजाब किंग्स (Punjab Kings) कर दिया है. इस सीजन टीम ने अपना नाम जरूर बदला है लेकिन खिलाड़ियों के कोर ग्रुप में ज्यादा बदलाव नहीं किए गए हैं. टीम ने इस सीजन के लिए अपनी रणनीतियां तैयार कर ली हैं. उसके बैटिंग कोच वसीम जाफर (Wasim Jaffer) ने बताया कि इस बार टीम अपने सीनियर विस्फोटक बल्लेबाज क्रिस गेल (Chris Gayle) को शुरुआत से ही मौका देना चाहती है.

पिछले सीजन दुनिया के इस धाकड़ बल्लेबाज को पंजाब ने टूर्नामेंट के पहले हाफ में बिल्कुल भी मौका नहीं दिया था. हालांकि बाद में जब उन्हें टीम में शामिल किया गया तो गेल ने अपना कमाल दिखाने में कोई कसर नहीं छोड़ी. हालांकि जाफर ने साफ कर दिया है कि गेल प्लेइंग XI का हिस्सा तो होंगे लेकिन ओपनिंग पर उन्हें यह चांस नहीं मिलेगा. पंजाब किंग्स अपने पिछले सीजन की ओपनिंग जोड़ी कप्तान केएल राहुल (KL Rahul) और मयंक अग्रवाल (Mayak Agarwal) की जोड़ी के साथ ही पारी की शुरुआत करना चाहेगी.

वसीम जाफर ने इनसाइड स्पोर्ट्स को दिए एक इंटरव्यू में कहा, ‘बीते सीजन मयंक अग्रवाल और केएल राहुल के रूप में हमारी ओपनिंग जोड़ी ने बढ़िया खेल दिखाया था. तब शुरुआत में गेल को मौका नहीं मिला था लेकिन जैसे ही उन्हें मौका मिला तो उन्होंने भी नंबर 3 पर बेहतरीन काम किया. नंबर 3 पर खेलना यह उनके लिए और टीम के लिए बिल्कुल नया था. लेकिन इस नंबर पर उन्होंने विरोधी टीम के स्पिनरों पर दबाव बनाए रखा. इन तीनों ने ही खूब सारे रन बनाए थे. हम इस बार भी गेल को नंबर 3 पर आजमाएंगे.’

पिछले सीजन केएल राहुल (670) इस लीग में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज थे. उनके अलावा मयंक अंग्रवाल ने भी 11 मैच खेलकर 424 रन कूटे और क्रिस गेल को सिर्फ 7 मैच ही खेलने का मौका मिला था, जिसमें उन्होंने 288 रन ठोककर अपना कमाल दिखाया था.