IPL 2021, DC vs MI, Preview: Delhi Capitals will try to avenge last year’s defeat against Mumbai Indians
(BCCI)

मंगलवार को जब इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन में मुंबई इंडियंस और दिल्ली कैपिटल्स टीमें आमने-सामने होंगी तो पिछले सीजन के फाइनल मैच की यादें जाता हो जाएंगी। मुंबई इंडियंस ने पिछले सीजन के फाइनल मैच में दिल्ली कैपिटल्स को हरा अपना पांचवां खिताब जीता था। और अब दिल्ली टीम इस सीजन उस हार का बदला लेना चाहेगी।

मुंबई इंडियंस की मजबूत टीम को अगर लगातार तीसरी जीत हासिल करनी है तो उसे दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ अपने मध्यक्रम की दिक्कतों को दूर करना होगा। पिछले मैचों में कप्तान रोहित शर्मा को अच्छी शुरुआत मिली थी लेकिन वो उसे बड़ी पारी में तब्दील करने में नाकाम रहे।

हालांकि मुंबई के पास सूर्यकुमार यादव, ईशान किशन, कीरोन पोलार्ड, हार्दिक पंड्या और कृणाल जैसे खिलाड़ी हैं जो किसी भी गेंदबाजी अटैक का सामना कर सकते हैं। लेकिन मुंबई का बल्लेबाजी क्रम इस सीजन निरंतरता के साथ प्रदर्शन करने में नाकाम रहा है। पिछले मैच के बाद रोहित ने भी स्वीकार किया कि उनकी टीम ‘मध्य ओवरों में थोड़ी बेहतर बल्लेबाजी कर सकती है।’

बल्लेबाजी भले ही फुल स्ट्रेंथ ना हो लेकिन मुंबई का गेंदबाजी अटैक 14वें सीजन में भी लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। पिछले दो मैचो में तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और ट्रेंट बोल्ट ने डेथ ओवर में बेहतरीन प्रदर्शन कर क्रमश: 150 और 152 रन जैसे स्कोर का सफलतापूर्वक बचाव किया।

लेग स्पिनर राहुल चाहर ने पिछले दो मैचों में सात विकेट चटकाए जिन्हें गेंदबाजी कोच शेन बांड ‘विकेट झटकने वाला गेंदबाज’ कहते हैं। उनके पास स्पिनर कृणाल भी हैं जो अपनी टीम को सफलता दिलाने के लिए बेताब होंगे। मुंबई ने पिछले मैच में एडम मिल्ने को खिलाया था लेकिन पिच को देखते हुए, वो ऑफ स्पिनर जयंत यादव को भी उतार सकते हैं जो 2020 फाइनल में इसी प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ खेले थे।

वहीं दिल्ली कैपिटल्स के लिए सबसे सकारात्मक चीज शिखर धवन की फार्म है जो अभी तक टूर्नामेंट में 186 रन बनाकर शीर्ष स्कोरर रहे हैं।धवन और युवा पृथ्वी शॉ की सलामी जोड़ी खतरनाक है, लेकिन मुंबई के खिलाड़ी को अपनी शुरूआत को बड़े स्कोर में तब्दील करने की जरूरत है।

दिल्ली ने रविवार को ऑस्ट्रेलियाई स्टीव स्मिथ को खिलाने का फैसला किया लेकिन वो अब चेपॉक की धीमी पिच पर खेलेंगे तो वे फिर से अजिंक्य रहाणे को खिला सकते हैं जो इस तरह की पिचों पर खेलने के लिए बेहतर ढंग से अनुकूलित हैं।

कप्तान रिषभ पंत में किसी भी अटैक की धज्जियां उड़ाने की काबिलियत है। दिल्ली कैपिटल्स का टीम मैनेजमेंट उम्मीद करेगा कि गत चैंपियन के खिलाफ उनका शीर्ष क्रम एकजुट होकर खेले जिनके खिलाफ वे पिछले साल फाइनल में हार गये थे।

दिल्ली कैपिटलस के पास मार्कस स्टोईनिस और ललित यादव जैसे बेहतरीन ऑलराउंडर भी हैं और ये खिलाड़ी भी अपनी भूमिका निभाने के लिये बेताब होंगे। उनके तेज गेंदबाजी आक्रमण के अगुआ दक्षिण अफ्रीका के कैगिसो रबाडा और क्रिस वोक्स हैं और दोनों अभी तक शानदार रहे हैं। उनके पास एनरिच नॉर्खिया के रूप में एक अतिरिक्त विकल्प भी हैं जो टीम से जुड़ गए हैं।

दिल्ली ने पंजाब के खिलाफ चार तेज गेंदबाजों को खिलाया था लेकिन चेन्नई में वे और स्पिनरों को खिला सकते हैं क्योंकि यह पिच स्पिनरों के लिये फायदेमंद है। उनके पास अनुभवी अमित मिश्रा, प्रवीण दुबे और नये खिलाड़ी शम्स मुलानी के भी विकल्प हैं जो रविचंद्रन अश्विन के मददगार हो सकते हैं।

दिल्ली कैपिटल्स का फुल स्क्वाड: रिषभ पंत (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, शिखर धवन, पृथ्वी सॉव, शिमरोन हेटमायर, मार्कस स्टोइनिस, क्रिस वोक्स, आर अश्विन, अमित मिश्रा, ललित यादव, प्रवीण दुबे, कैगिसो रबाडा, एनरचि नोर्जिया, इशांत शर्मा, अवेश खान, स्टीव स्मिथ, उमेश यादव, रिपल पटेल, विष्णु विनोद, लुकमान मेरिवाला, एम सिद्धार्थ, टॉम करेन, सैम बिलिंग्स और अनिरूद्ध जोशी।

मुंबई इंडियंस का फुल स्क्वाड: रोहित शर्मा (कप्तान), सूर्यकुमार यादव, अनमोलप्रीत सिंह, क्रिस लिन, सौरभ तिवारी, धवल कुलकर्णी, जसप्रीत बुमराह, राहुल चाहर, ट्रेंट बोल्ट, मोहसिन खान, हार्दिक पंड्या, जयंत यादव, कीरोन पोलार्ड, कृणाल पंड्या, अनुकुल रॉय, इशान किशन, क्विंटन डिकॉक, आदित्य तारे, एडम मिल्ने, नाथन कूल्टर नाइल, पीयूष चावला, जेम्स नीशाम, युद्धवीर चरक, मार्को जेनसन और अर्जुन तेंदुलकर।