टीम इंडिया के सीनियर ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) का तीन बार की आईपीएल चैंपियन चेन्नई सुपरकिंग्स (CSK) के साथ कॉन्ट्रैक्ट खत्म हो गया है. भज्जी आईपीएल के 3 सीजन के लिए इस फ्रैंचाइजी से जुड़े रहे लेकिन साल 2020 में दुबई में आयोजित हुए इस टूर्नामेंट में उन्होंने निजी कारणों से हिस्सा नहीं लिया था. हालांकि वह साल 2018 और 2019 में एमएस धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी वाली इस टीम के लिए खेले थे.

भज्जी के साथ चेन्नई सुपरकिंग्स का 3 साल के लिए कॉन्ट्रैक्ट था और भज्जी के ट्वीट से ऐसा लग रहा है कि दोनों ही पक्ष अब अपने इस करार को आगे बढ़ाना नहीं चाहते थे. माना जा रहा है कि सीनियर खिलाड़ियों के साथ खेलने वाली चेन्नई इस बार अपनी टीम में कई बड़े बदलाव करने पर विचार कर रही है. कई उम्रदराज खिलाड़ियों के साथ खेलने के चलते पिछले सीजन 2020 में उसे काफी नुकसान हुआ था. यह टीम पहली बार इस लीग के प्लेऑफ राउंड से पहले ही बाहर हो गई.

https://twitter.com/harbhajan_singh/status/1351778962708389889?s=20

भज्जी ने ट्वीट कर अपने फैन्स के साथ यह जानकारी साझा की. उन्होंने लिखा, ‘चेन्नई सुपरकिंग्स के साथ मेरा करार अब खत्म हो गया है, इस टीम के लिए खेलना एक सुखद अनुभव था.. कई बेहतरीन यादें और कुछ बहुत अच्छे दोस्त बनाए, जिन्हें मैं आने वाले कई सालों तक बहुत गर्मजोशी से याद रखूंगा.. शानदार 2 साल के लिए चेन्नई सुपरकिंग्स के मैनेजमेंट, स्टाफ और फैन्स को शुक्रिया. शुभकामनाएं..’

चेन्नई ने भज्जी को साल 2018 में उनके बेस प्राइज 2 करोड़ रुपये में खरीदा था. इस ऑफ स्पिनर ने इस फ्रैंचाइजी के लिए 24 मैच खेले. साल 2018 में जब चेन्नई तीसरी बार इस खिताब की चैंपियन बनी थी, तब भज्जी का रोल अहम था. उस सीजन में उन्होंने 11 मैच खेलकर 7 विकेट अपने नाम किए थे. अब यह देखना दिलचस्प होगा कि चेन्नई से अलग होने के बाद क्या यह 40 वर्षीय स्पिनर एक बार फिर आईपीएल के नए सीजन के लिए ऑक्शन में अपना नाम देगा. भज्जी 2019 आईपीएल के बाद से ही क्रिकेट से दूर रहे हैं. चेन्नई से पहले वह मुंबई इंडियंस का हिस्सा रहे हैं.