कोरोना वायरस की वजह से इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) के 13वें सीजन का आयोजन यूएई में होने के बाद 14वें सीजन के साथ बीसीसीआई का ये महात्वाकांक्षी टूर्नामेंट घरवापसी कर रहा है। हालांकि टूर्नामेंट का आयोजन भारत में हो रहा है लेकिन आईपीएल फ्रेंचाइजियों को अपने घरेलू मैदान पर खेलने का मौका नहीं मिलेगा।

दरअसल बीसीसीआई (BCCI) ने आईपीएल 2021 का शेड्यूल इस तरह से तैयार किया है, जिससे सभी मैच न्यूट्रेल वेन्यू पर खेले जाएंगे और किसी भी टीम के पास घरेलू मैदान का एडवांटेज नहीं होगा। कई फ्रेंचाइजी मालिक और फैंस इस फैसले से नाराज हैं। हालांकि चेन्नई सुपर किंग्स के बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा (Robin Uthappa) इस नई चुनौती को सकारत्मक नजरिए से देख रहे हैं।

उन्होंने कहा, “अब जबकि कोई भी टीम घरेलू मैदान पर नहीं खेल रही है तो खेल बराबरी का हो गया है। चूंकि हम भारत में खेल रहे हैं तो स्पिन की भूमिका होगाी, खासकर कि टूर्नामेंट के आखिर में। ये दुर्भाग्य की बात है कि हम अपने घरेलू मैदान पर और अपने फैंस के सामने नहीं खेल पाएंगे लेकिन होम एडवांटेज सभी टीमों के लिए शून्य है।”

सलामी बल्लेबाजी करना चाहते हैं उथप्पा

कोलकाता नाइट राइडर्स के प्रमुख बल्लेबाज रहे उथप्पा 14वें सीजन के लिए सीएसके टीम से जुड़े हैं, जिसे लेकर वो काफी उत्साहित हैं। चेन्नई टीम के बल्लेबाजी क्रम में वो खुद को कहां खेलते देखते हैं ये पूछे जाने पर उथप्पा ने कहा कि वो सलामी बल्लेबाजी करना पसंद करेंगे।

उन्होंने कहा, “मैं निश्चित तौर पर सलामी बल्लेबाज के तौर पर खेलना चाहूंगा। वो मेरी स्वाभाविक भूमिका है। टीम को अच्छी शुरुआत दिलाना और मैच जीतना हमेशा से मेरा पसंदीदा काम रहा है। पिछले कुछ सालों में लोगों ने मुझे उस भूमिका में ढालने की कोशिश की है जहां मैं अच्छा प्रदर्शन नहीं करता हूं। इसी वजह से मेरे प्रदर्शन में गिरावट आई है। लेकिन जब भी मैंने पारी की शुरुआत की है, मैंने अच्छा प्रदर्शन किया है।”

बता दें कि चेन्नई टीम के लंबे समय से लिए पारी की शुरुआत दिग्गज शेन वाटसन और फाफ डु प्लेसिस करते आए हैं। लेकिन वाटसन के संन्यास लेने के बाद ये भूमिका युवा खिलाड़ी रुतुराज गायकवाड़ ने संभाली है, जिन्होंने 13वें आईपीएल सीजन के आखिरी पड़ाव में शानदार बल्लेबाजी कर अपनी प्रतिभा को साबित किया था। जिसके बाद उन्हें डु प्लेसिस का नया जोड़ीदार माना जा रहा है, ऐसे में उथप्पा के लिए सलामी बल्लेबाज की भूमिका में फिट होना मुश्किल होगा।