सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) की टीम आज अपना चौथा मुकाबला खेल रही है. पंजाब किंग्स के खिलाफ खेले जा रहे इस मैच में हैदराबाद ने अपने प्लेइंग इलेवन से मनीष पांडे (Manish Pandey) को बाहर रखा है. मनीष पांडे बेहतरीन फॉर्म में थे और उन्होंने तीन पारियों में 101 रन बनाए थे. लेकिन इसके बावजूद पांडे को आज सनराइजर्स ने मौका नहीं दिया है. भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज अजीत आगरकर (Ajit Agarkar) ने भी टीम मैनेजमेंट के इस फैसले को सही करार दिया है.

अजीत आगरकर क्रिकेट वेबसाइट क्रिकइन्फो पर इस मैच के टॉस के बाद हैदराबाद की प्लेइंग इलेवन की समीक्षा कर रहे थे. जब उनसे मनीष पांडे को बाहर रखने पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘टीम के लिए मनीष पांडे को बाहर बिठाना एक मुश्कि फैसला रहा होगा. लेकिन मेरी नजर में यह सही फैसला है. मनीष से इस सीजन अपनी पहली दो पारियों में रन जरूर बनाए थे. लेकिन इसके बावजूद वह अपनी टीम को जीत नहीं दिला पाए.’

हैदराबाद की टीम इस सीजन अभी भी अपनी पहली जीत का इंतजार कर रही है. उसके पहले 3 मैचों में लगातार 3 हार का सामना करना पड़ा है. इनमें से तीनों ही बार वह खराब बल्लेबाजी के चलते हारी है. मनीष पांडे एक-दो मौकों पर टीम को जीत दिलाने का जज्बा दिखा सकते थे. लेकिन वह ऐसा नहीं कर पाए.

31 वर्षीय पांडे के खेल की आलोचना करते हुए आगरकर ने कहा, ‘मनीष पांडे सनराइजर्स हैदराबाद के रिटेन खिलाड़ियों में शुमार हैं, जिसका मतलब है कि फ्रैंचाइजी उन्हें मोटी रकम अदा कर रही है और वह टीम की रणनीतियों का अहम हिस्सा हैं. लेकिन एक बार वह 60 रन बनाकर भी टीम को जीत नहीं दिला पाए और इसके बाद रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ वह तब खराब शॉट खेलकर आउट हुए, जब कुछ समय पहले बेयरस्टो आउट हुए थे. ऐसे में सनराइजर्स को उन्हें बाहर बिठाने का यह फैसला लेना ही था.’

इसके अलावा इस पूर्व तेज गेंदबाज ने यह भी कहा कि उनकी जगह टीम केन विलियमसन को टीम में लेकर आई है. यानी वह एक अनुभवी खिलाड़ी के बदले अनुभवी खिलाड़ी ही ला रही है तो इसमें टीम के कॉम्बिनेशन में कहीं कोई गड़बड़ नहीं हुई है.