IPL 2021: prithvi shaw of delhi capitals gives verdict on rishabh pant captaincy
कप्तान रिषभ पंत ने बातचीत करते शिमरोन हेटमायर. (PC- IPL)

Indian Premier League 2021: दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) टीम के सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) ने आईपीएल-14 (IPL 14) मुकाबले में अपनी टीम की चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) पर सात विकेट से जीत में अहम भूमिका निभाई. यह बतौर कप्तान रिषभ पंत का पहला मैच था. शॉ ने कहा कि उनकी टीम को नियमित कप्तान श्रेयस अय्यर की कमी खली, लेकिन पंत एक बेहतरीन कप्तान हैं. सीएसके के खिलाफ मैच में दिल्ली के नवनियुक्त कप्तान पंत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया. उनकी टीम उनके गुरू रहे महेंद्र सिंह धोनी की सुपर किंग्स को 188 रनों पर रोकने में सफल रही और फिर शिखर धवन (85 रन, 54 गेंद,10 चौके, 2 छक्के) तथा शॉ (72 रन, 38 गेंद, 9 चौके, 3 छक्के) के बीच पहले विकेट के लिए हुई 138 रनों की साझेदारी के दम पर सात विकेट से जीत दर्ज की.

शॉ ने मैच के बाद कहा, “हम वास्तव में श्रेयस अय्यर को याद कर रहे हैं. उन्होंने टीम का बहुत अच्छा नेतृत्व किया. हालांकि, रिषभ पंत बहुत स्मार्ट हैं. वह निडर है और खेल का आनंद लेता है. वह मैदान पर बहुत मनोरंजक है और एक कप्तान के रूप में बहुत शांत है. वह टीम के लिए शानदार काम कर रहे हैं.”

ऑस्ट्रेलिया में खराब प्रदर्शन के बाद भारतीय टीम से निकाले गए शॉ ने कहा कि अभी वह भारतीय टीम में वापसी के बारे में नहीं सोच रहे हैं. इससे पहले शॉ ने विजय हजारे ट्राफी में शानदार प्रदर्शन करते हुए चार शतक लगाए. अब शॉ ने आईपीएल के इस सीजन के पहले ही मैच में शानदार अर्धशतक जड़ा है.

शॉ ने कहा, “मैं अभी भारतीय टीम के बारे में अधिक नहीं सोच रहा क्योंकि टीम से निकाला जाना सचमुच काफी निराशाजनक था. मैं उससे आगे बढ़ गया हूं. मैंने मान लिया है कि मेरी बैटिंग तकनीक में कमी है और मुझे सबसे पहले उसे सुधारना है. मुझे इस पर काम करते हुए अपने आप में सुधार लाना है. इसके लिए मैं किसी तरह का बहाना नहीं बना सकता.”

दिल्ली की टीम बीते सीजन में फाइनल तक पहुंची थी, जबकि सुपर किंग्स प्लेऑफ में भी नहीं पहुंच सके थे. दिल्ली के खिलाफ धोनी का व्यक्तिगत प्रदर्शन भी निराशाजनकर रहा. वह दो गेंदें खेलकर खाता खोले बगैर पवेलिटन लौटे.

अपनी वापसी वाली पारी के बारे में पृथ्वी शॉ ने कहा, “हमने जो प्लान बनाया, उस पर अमल भी किया. ऑस्ट्रेलिया दौरे के बाद ड्रॉप होने के बाद मैं प्रवीण (आमरे) सर के पास गया. अपनी बैटिंग पर चर्चा की और फिर घरेलू मैच खेले, जिसका मुझे फायदा हुआ. मुझे बहुत खुशी है कि मैं वापसी कर सका. मेरी बैटिंग में जो भी कमी है, मैं उस पर काम कर रहा हूं.” (आईएएनएस)