इन दिनों आईपीएल (IPL 2021) में खेल रहे रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) ऑफ स्पिन बॉलिंग नहीं कर रहे हैं. वह अपनी विविधताओं पर ज्यादा भरोसा जता रहे हैं. भारत के पूर्व विस्फोटक ओपनिंग बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने कहा कि वह छक्का खाने के डर से ऑफ स्पिन फेंकने बचते हैं.

बुधवार को अश्विन दिल्ली कैपिटल्स (DC) की ओर से सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) के खिलाफ खेलने उतरे थे. इस दौरान उन्होंने 2.5 ओवर गेंदबाजी की. लेकिन यहां ऑफ स्पिन बॉलिंग से वह दूर ही रहे. उन्होंने अपनी लेग स्पिन और बॉलिंग दूसरी विविधता भरी बॉलिंग पर ज्यादा जोर दिया. इसके चलते अश्विन ने 22 रन ही खर्च किए लेकिन उन्हें कोई विकेट नहीं मिला.

सहवाग ने कहा कि उन्हें अपनी ऑफ स्पिन बॉलिंग पर भरोसा करना चाहिए क्योंकि वह इसी में माहिर गेंदबाज हैं और इसी बॉलिंग से उन्हें विकेट मिल सकते हैं.

वीरू ने कहा, ‘अश्विन का माइंडसेट ऐसा बन चुका है कि अगर वह ऑफ स्पिन फेंकेंगे तो कोई भी बल्लेबाज उन्हें छक्का मार देगा. इसी डर से, वह प्रयोग करने में जुटे हुए हैं. जब एमएस धोनी (MS Dhoni) विकेट के पीछे होते थे, तो उन्होंने अश्विन को कभी नए-नए प्रयोग करने की मंजूरी नहीं दी. सहवाग क्रिकेट वेबसाइट क्रिकबज के एक खास शो में यह चर्चा कर रहे थे.

उन्होंने कहा, ‘जिस ढंग से वह बॉलिंग कर रहे थे, इससे उन्हें बल्लेबाज को आउट करने ,के मौके कम मिलेंगे. अगर वह ऑफ स्पिन पर टिके रहते हैं तो फिर LBW और बोल्ड करने के समीकरण पैदा होते हैं. हां, वह इकॉनमी में सही रहे लेकिन बतौर एक सीनियर गेंदबाज उन्हें मिडल ओवरों में अपनी टीम को विकेट निकालने का काम करना है.’

इस भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) को रनों पर अंकुश रखने लगाने और विकेट लेने में महारत होने के चलते इस बार टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup 2021) टीम में जगह भी मिली है. वह 4 साल बाद टी20 फॉर्मेट में इंटरनेशनल क्रिकेट खेलते दिखाई देंगे.