IPL Match 4- RR vs PBKS: सोमवार रात को मुंबई के वानखेड़े मैदान पर खेले गए मुकाबले में पंजाब किंग्स (PBKS) ने राजस्थान रॉयल्स (RR) को 4 रनों से हरा दिया. इस मैच में रॉयल्स की टीम 222 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही थी. 19.5 ओवरों तक उसने 217 रन बना लिए थे और अब उसे एक गेंद पर 5 रन की दरकार थी. यह गेंद पंजाब के युवा तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह (Arshdeep Singh) को फेंकनी थी, जिनके सामने 119 रन जड़ चुके संजू सैमसन (Sanju Samson) खड़े थे.

संजू के सामने जीत रॉयल्स की ही दिख रही थी क्योंकि वह अपनी पारी में अब तक 12 चौके और 7 छक्के जमा चुके थे. संजू यहां चौका भी जड़ देते तो मैच का फैसला सुपर ओवर से होता. लेकिन अर्शदीप ने संजू के खौफ का कोई ख्याल नहीं किया और उन्होंने अपनी गेंद ऐसे ठिकाने पर फेंकी, जिसे संजू पार नहीं पा पाए.

उन्होंने सोच लिया था कि वह मैच की आखिरी गेंद ‘वाइड यॉर्कर’ फेंकेंगे. जिससे यह गेंद बल्लेबाज की पहुंच से बाहर ही रहे और उसे भेदने के लिए उन्हें अतिरिक्त प्रयास करना होगा. 62 बॉल में 119 रन जड़ चुके सैमसन भले अपनी टीम को जीत के दरवाजे तक ले गए हों लेकिन अर्शदीप ने उन्हें आखिरी चोट नहीं मारने दी और पारी की 63वीं गेंद पर डीप कवर में कैच आउट हो गए.

इस तरह तेज गेंदबाज अर्शदीप ने आखिरी ओवर में रॉयल्स को 13 रन नहीं बनाने दिए. अर्शदीप ने कहा, ‘मैने खुद पर भरोसा रखा. सहयोगी स्टाफ तथा गेंदबाजी कोच ने भी मुझसे यही कहा कि रणनीति पर टिके रहो और अगर चकमा देना है तो बल्लेबाज को दो, कप्तान को नहीं.’ अर्शदीप ने 35 रन देकर 3 विकेट लिए.

उन्होंने आखिरी गेंद पर सैमसन को आउट करके टीम को जीत दिलाई. आखिरी ओवर में सैमसन को गेंदबाजी की रणनीति के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, ‘फील्ड रणनीति के तहत ही लगाई गई थी और उन्हें वाइड यॉर्कर डालनी थी. हमें पता था कि छह गेंद ऐसी डाल सके तो उनके लिये मुश्किल होगी.’

उन्होंने कहा, ‘मुख्य बात रणनीति पर अमल करने की थी.’ अर्शदीप ने कहा कि आईपीएल में किसी टीम को कमतर नहीं आंका जा सकता. विकेट अच्छा था और उन्होंने (संजू) शानदार बल्लेबाजी की. आईपीएल इतनी अच्छी लीग है कि किसी टीम को कमतर नहीं आंक सकते.’ अब पंजाब का सामना 16 अप्रैल को चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) से होगा.

इनपुट : भाषा