मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) के खिलाफ मैच में चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) के लड़खड़ाते हुए बल्लेबाजी क्रम को संभालते हुए रुतुराज गायकवाड़ (Ruturaj Gaikwad) ने अर्धशतकीय पारी खेलते हुए अपनी टीम को 20 रन से शानदार जीत दिलाई। मैच के बाद चेन्नई के मुख्य कोच स्टीफन फ्लेमिंग (Stephen Fleming) ने इस युवा बल्लेबाज की तारीफ की।

फ्लेमिंग ने कहा कि उसने दबाव का बखूबी सामना करके शानदार पारी खेली जिसके दम पर उनकी टीम ने आईपीएल के पहले मैच में गत चैंपियन मुंबई इंडियंस को हराया। मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कोच ने कहा, ‘‘आज की पारी खास थी । बड़े स्कोर वाले मैच में बड़ी पारी खेलना अच्छा होता है लेकिन इस तरह के मैच में ऐसी पारी खेलकर टीम को मैच में बने रहने का मौका देना और भी खास है।’’

गायकवाड़ के नाबाद 88 रन की मदद से चेन्नई ने छह विकेट पर 156 रन बनाए। एक समय पर उसका स्कोर चार विकेट पर 24 रन था लेकिन गायकवाड़ ने पारी को संभाला।

उन्होंने कहा ,‘‘उसने दबाव का बखूबी सामना किया और रनगति को बढ़ाया। उसकी पारी की बदौलत ही हम दबाव बनाने में कामयाब रहे। उसकी पारी यादगार थी। हमने उस पर हमेशा भरोसा किया है। पिछली बार भी कोरोना से उबरने के तुरंत बाद वो टीम में था। शायद जल्दबाजी थी लेकिन ये बताता है कि टीम को उसकी क्षमता पर कितना भरोसा है ।’’

बल्लेबाज अंबाती रायुडू मैच में चोट लगने के बाद ड्रेसिंग रूम लौट गए जबकि तेज गेंदबाज दीपक चाहर को गेंदबाजी के दौरान चोट आई। इस बारे में फ्लेमिंग ने कहा, ‘‘रायुडू का एक्स रे ठीक आया है। मामूली खरोंच थी। हमें डर था कि कहीं हड्डी तो नहीं टूटी लेकिन ऐसा नहीं है। दीपक का आकलन कल किया जाएगा  उम्मीद है कि दोनों फिट होंगे।’’

मैच में कप्तान महेंद्र सिंह धोनी बल्लेबाजी के लिए रविंद्र जडेजा से पहले आए और कोच ने कहा कि मैच के हालात को देखकर ये फैसला लिया गया था। उन्होंने कहा, ‘‘मैच को देखकर ये फैसला लिया गया। भारत में हमें अच्छी शुरूआती मिलती रही और हमारा फोकस दाएं बाएं कॉम्बिनेशन पर था। यहां हालात अलग थे और कप्तान खुद जिम्मेदारी लेना चाहते थे। ये फैसला हालात देखकर किया गया।’’