सोमवार को चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के खिलाफ राजस्थान रॉयल्स (RR) की टीम 45 रन से हार गई. यह टूर्नामेंट में उसकी दूसरी हार है. राजस्थान रॉयल्स के कप्तान संजू सैमसन (Sanju Samson) एक बार फिर फ्लॉप हो गए. सीजन के अपने पहले मैच में शतक जमाने वाले संजू सोमवार को सिर्फ 1 ही रन बना पाए. संजू की इस पारी से पूर्व भारतीय ओपनिंग बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) का नाराज नजर आए और उन्होंने संजू को दो पारियों का खिलाड़ी बता दिया.

रॉयल्स की हार के बाद वीरेद्र सहवाग पूर्व भारतीय क्रिकेटर अजय जडेजा (Ajay Jadeja) के साथ क्रिक बज पर इस मैच की समीक्षा कर रहे थे. इस दौरान जब संजू का जिक्र छिड़ा तो सहवाग ने कहा कि वह हर सीजन सिर्फ दो या तीन पारियों में ही चलते हैं. उनमें निरंतरता का बेहद आभाव है.

ऐसे में संजू का नाम इस लीग के बड़े खिलाड़ियों में शुमार करना मुश्किल नजर आता है. उन्होंने कहा कि वह पहले मैच में शतक बना चुके थे लेकिन उनकी टीम तब भी नहीं जीती. अब वह शायद एक पारी दिल्ली या बैंगलोर जा कर खेल लेंगे. लेकिन उन्हें समझना चाहिए कि वह मौके पर रन बना सकें.

वीरू ने कहा, ‘कभी-कभी 30-40 रन बनाकर भी टीम को जीत दिलाई जा सकती है. लेकिन वह ऐसा नहीं कर पा रहे हैं. ऐसे में मुझे नहीं दिखता कि उनका नाम बड़े खिलाड़ियों में शुमार हो रहा हो.’

संजू को ऐसी पारियां खेलनी आनी चाहिए, जिसमें वह अपनी टीम को जीत दिला सकें. सहवाग ने इस युवा बल्लेबाज को यह सलाह भी दी कि वह हमेशा अपनी स्ट्रोक प्ले और स्ट्राइक रेट और स्ट्रोक प्ले को अहमियत न दें. उन्हें कभी-कभी वह रोल अदा करना आना चाहिए, जिसमें वह सामने वाले बल्लेबाज को स्ट्राइक दें और उन्हें बड़े शॉट खेलने का मौका दें.

उन्होंने कहा कि क्रिकेट में परिस्थितियां बहुत मायने रखती हैं, जब कोई आपसे तेज और आपसे बेहतर खेल रहा होता है, तब आपको उन्हें ही स्ट्राइक देनी चाहिए. सहवाग ने कहा कि मैंने या एम. एस. धोनी ने भी कभी एक ही गियर में बैटिंग नहीं की. ऐसा कोई भी नहीं करता. ऐसे में संजू को भी गियर बदलना आना चाहिए. बता दें सीजन के अपने पहले मैच में 119 रन ठोकने वाले संजू अगली दोनों पारियों में फ्लॉप रहे हैं. इस दौरान वह सिर्फ 5 और 1 रन की पारियां खेल पाए हैं.