×

IPL 2022- KKR vs LSG: प्लेऑफ की उम्मीदें टटोलने उतरेंगे नाइटराइडर्स, सुपरजायंट्स भी हार का सिलसिला तोड़ने को बेकरार

KKR के पास प्लेऑफ में पहुंचने का मौका बन सकता है. ऐसे में वह इसे हाथ से नहीं जाने देगी, जबकि लखनऊ सुपर जायंट्स भी यहां अपनी लगातार 2 हार का सिलसिला तोड़ने को बेकरार होगी.

लखनऊ vs कोलकाता @IPL-BCCI

कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) को इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के प्लेऑफ में पहुंचने की धुंधली उम्मीदों को बनाए रखने के लिए अपने अंतिम लीग मुकाबले में बड़ी जीत की जरूरत है तो वही लखनऊ सुपर जायंट्स (LSG) बुधवार को इस मैच को अपने नाम कर तालिका में शीर्ष में जगह बनाने की कोशिश करेगा। केकेआर 13 मैचों में छह जीत से 12 अंकों के साथ तालिका में छठे स्थान पर है और अगर टीम इस मैच को बड़े अंतर से जीतने में सफल रहती है तब भी उसे प्लेऑफ में क्वॉलीफाई करने के लिए अन्य मैचों के नतीजे पर निर्भर रहना होगा.

लखनऊ की टीम प्ले-ऑफ में जगह पक्की करने से एक कदम दूर है. टीम के 13 मैचों में 16 अंक हैं और इस मैच में जीत से उसका प्लेऑफ का टिकट पक्का हो जाएगा. दो बार की चैम्पियन केकेआर की टीम पिछले साल फाइनल में पहुंची थी लेकिन इस सत्र में वह लय को बरकरार नहीं रख पाई. टीम ने हालांकि पिछले दो मैचों में मुंबई इंडियंस और सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ जीत दर्ज कर अपनी उम्मीदों को बनाए रखा है.

श्रेयस अय्यर की अगुवाई वाली टीम ने पिछले मैच में आंद्रे रसेल के हरफनमौला खेल और गेंदबाजों के दमदार प्रदर्शन से सनराइजर्स हैदराबाद को 54 रन से मात दी. इस मैच में शीर्ष क्रम के लड़खड़ाने के बाद रसेल और सैम बिलिंग्स ने टीम को छह विकेट पर 177 रन तक पहुंचाया और फिर गेंदबाजों ने शानदार तरीके से अपना काम किया.

शीर्ष क्रम में अजिंक्य रहाणे चोटिल होकर टूर्नामेंट से बाहर हो गए हैं तो वहीं पिछले सत्र के नायक वेंकटेश अय्यर ने इस सत्र में निराश किया. नीतिश राणा और श्रेयस अय्यर लगातार अच्छा प्रदर्शन करने में विफल रहे हैं. चोट से उबरने के बाद उमेश यादव ने टिम साउदी का अच्छा साथ दिया और रसेल ने भी कुछ अहम विकेट लिए.

सुनील नारायण और वरुण चक्रवर्ती की स्पिन जोड़ी ने भी पिछले कुछ मैचों में लय हासिल कर ली. लखनऊ की टीम इस मुकाबले में लगातार दो हार के सिलसिले को तोड़ना चाहेगी. इन दोनों मैचों में टीम के बल्लेबाजों ने निराश किया है.

टीम कप्तान लोकेश राहुल पर जरूरत से ज्यादा निर्भर है. उन्होंने सत्र में दो शतक लगाए हैं लेकिन पिछले तीन मैच में बड़ा स्कोर खड़ा करने में नाकाम रहे हैं. यही हाल अनुभवी क्विंटन डिकॉक का भी है. उन्होंने पिछली दो पारियों में 11 और 7 रन ही बनाए हैं.

टीम के लिए दीपक हुड्डा की लय हालांकि सबसे बड़ी सकारात्मक चीज है, जो लगातार रन बना रहे हैं. लखनऊ सुपर जायंट्स की टीम हालांकि युवा आयुष बडोनी और मार्कस स्टोइनिस का बेहतर इस्तेमाल करना चाहेगी. टीम की गेंदबाजी सत्र के ज्यादा मैचों में अच्छी रही लेकिन पिछले मैच में उनके खिलाफ राजस्थान रॉयल्स के बल्लेबाजों को तेजी से रन बनाने में परेशानी नहीं हुई.

trending this week