आईपीएल 9: पंत और डी काक की साझेदारी के बदौलत जीती दिल्ली
दिल्ली डेयरडेविल्स photo courtesy zeenews. india.com

ऋषभ पंत (69) और क्विंटन डी काक (46) के बीच पहले विकेट के लिए हुई शतकीय साझेदारी की बदौलत दिल्ली डेयरडेविल्स ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के नौवें संस्करण में मंगलवार को गुजरात लायंस को आठ विकेट से हरा दिया। राष्ट्र क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए इस मैच में गुजरात ने दिल्ली को 150 रनों का लक्ष्य दिया था, जिसे उसने 17.2 ओवरों में दो विकेट खोकर हासिल कर लिया। पंत ने 40 गेंदों में दो छक्के और नौ चौकों की मदद से अर्धशतकीय पारी खेलने के अलावा डी काक के साथ पहले विकेट के लिए 115 रनों की साझेदारी कर जीत की नींव रखी। पंत को मैन ऑफ द मैच चुना गया। वहीं, डी काक ने अपनी पारी में 45 गेंदें खलेते हुए एक छक्का और पांच चौके लगाए।

दिल्ली के गेंदबाजों के आगे संघर्ष करने वाली गुजरात ने दिनेश कार्तिक की 43 गेंदों में पांच चौकों की मदद से खेली गई 53 रनों की पारी की बदौलत 20 ओवरों में सात विकेट खोकर 149 रनों का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया था। लक्ष्य का पीछा करने उतरी दिल्ली को जीत दर्ज करने में किसी प्रकार की समस्या नहीं हुई और उसने 16 गेंद पहले मैच अपने नाम कर लिया।

सलामी बल्लेबाज पंत और डी काक ने टीम को मनमाफिक शुरुआत दी। पंत ने एक छोर से तेज खेल खेला तो डी काक ने धीरे-धीरे अपनी पारी को आगे बढ़ाया। गुजरात को पहले विकेट के लिए 13.3 ओवर का इंतजार करना पड़ा। रविन्द्र जडेजा ने पंत को विकेट के पीछे कैच करा गुजरात को पहली सफलता दिलाई।

पंत के जाने के बाद उनके जोड़ीदार डी काक अपना अर्धशतक पूरा करने से पहले ही पवेलियन लौट गए। उन्हें शिविल कौशिक ने 121 के स्कोर पर पवेलियन भेजा।

इसके बाद संजू सैमसन (नाबाद 19) और ज्यां पॉल ड्यूमिनी (नाबाद 13) ने एक भी विकेट नहीं गिरने दिया। सैमसन ने 18वें ओवर की दूसरी गेंद पर छक्का जड़ टीम को जीत दिलाई।

इससे पहले, टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी गुजरात की शुरुआत अच्छी नहीं रही। ब्रेंडन मैक्लम (1) तीसरे ओवर की पांचवी गेंद पर 17 के कुल स्कोर पर जहीर खान का शिकार बने। दूसरे सलामी बल्लेबाज ड्वायन स्मिथ (15) आक्रामक मूड में थे। उन्होंने पहले ओवर में एक और दूसरे ओवर में दो चौके लगाए लेकिन शहबाज नदीम ने चौथे ओवर की पहली गेंद पर उन्हें पवेलियन भेज दिया।

स्मिथ के बाद आए एरॉन फिंच (5) भी नदीम का शिकार बने। गुजरात ने 24 रनों पर अपने तीन बड़े विकेट गंवा दिए थे। संकट के समय में कप्तान सुरेश रैना (24) ने कार्तिक के साथ चौथे विकेट के लिए 51 रनों की साझेदारी कर टीम को संभाला।

रैना को अमित मिश्रा ने पवेलियन भेजा। रैना के बाद रविन्द्र जडेजा (नाबाद 36) ने कार्तिक का साथ दिया और पारी को आगे बढ़ाया। टीम का स्कोर जब 127 था तब मोहम्मद समी ने कार्तिक को बोल्ड कर पवेलियन भेजा।

जेम्स फॉक्नर (7) जल्दी रन बनाने की कोशिश में पवेलियन लौट गए। जडेजा ने अंत तक खेलते हुए टीम को 149 के स्कोर तक पहुंचाया।

गुजरात की तरफ से सबसे सफल गेंदबाज नदीम रहे। उन्होंने तीन ओवरों में 23 रन देकर दो विकेट हासिल किए। उनके अलावा मौरिस, जहीर, मिश्रा, समी ने एक-एक विकेट लिया। एक बल्लेबाज रन आउट हुआ।