IPL is the secret of England’s success in limited overs: ECB Director Ashley Giles
बेन स्टोक्स (AFP)

कोच क्रिस सिल्वरवुड और कप्तान इयोन मोर्गन के बाद अब इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड के डॉयरेक्टर एशले जाइल्स ने भी इंडियन प्रीमियर लीग को सीमित ओवर फॉर्मेट में इंग्लैंड टीम की सफलता के पीछे का कारण बताया है। जाइल्स ने यहां तक कहा कि इस टी20 टूर्नामेंट में इंग्लिश क्रिकेटरों की मौजूदगी से इंग्लैंड टीम को आईसीसी टी20 और वनडे रैंकिंग में नंबर एक पर पहुंचने में मदद मिली।

जाइल्स ने स्काई स्पोर्ट्स के एक कार्यक्रम में कहा, ‘’खिलाड़ियों के साथ बातचीत में मैंने उन्हें अपने कार्यक्रम पर ध्यान देने के लिए प्रेरित किया। मैंने उन्हें निर्देश नहीं दिए। हम किसी भी तरह का दबाव नहीं बना रहे हैं।”

उन्होंने कहा, ‘‘आईपीएल को नजरअंदाज नहीं किया जा रहा है। इस टूर्नामेंट से हमें बहुत फायदा हुआ है। मुझे लगता है कि हमारी इस टीम से 12 से 16 खिलाड़ी आईपीएल में खेलने के लिए जा रहे हैं। सालों पहले हमारे लिए खिलाड़ियों को आईपीएल का अनुभव दिलाना मुश्किल था। अब हमारे खिलाड़ियों की वहां काफी मांग है और संभवत: ये बड़ा कारण है कि हम सीमित ओवरों की क्रिकेट के दोनों फॉर्मेट में विश्व में नंबर एक हैं।’’

IPL 2021 में CSK के लिए सलामी बल्लेबाजी करना चाहते हैं रॉबिन उथप्पा

आईपीएल के 14वें सीजन में इंग्लैंड के जॉस बटलर, बेन स्टोक्स और जोफ्रा आर्चर राजस्थान रॉयल्स से, मोईन अली और सैम कर्रन चेन्नई सुपरकिंग्स से, टॉम कुरेन दिल्ली कैपिटल्स से और डेविड मलान पंजाब किंग्स की तरफ से खेलेंगे। टूर्नामेंट नौ अप्रैल से शुरू होकर 30 मई को खत्म होगा।

जबकि इंग्लैंड का न्यूजीलैंड के खिलाफ पहला टेस्ट मैच दो जून से शुरू होगा। कोच सिल्वरवुड ने कहा था कि अगर उनकी टीमें प्लेऑफ में जगह बना लेती हैं तो इंग्लैंड क्रिकेटर आईपीएल के लिए न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाले पहले टेस्ट में नहीं खेलेंगे। जाइल्स ने भी इस बात से सहमति जताई है।

जाइल्स ने कहा, ‘‘हम खिलाड़ियों को आईपीएल में भेजने के लिए तैयार हैं। इन दो टेस्ट मैचों का कार्यक्रम बाद में तैयार किया गया। वो शुरुआती कार्यक्रम का हिस्सा नहीं थे। हमारी खिलाड़ियों और आईपीएल के साथ सहमति है कि खिलाड़ी टूर्नामेंट के शुरू से ही उपलब्ध रहेंगे और अगर उनकी टीम आखिरी स्टेज में पहुंचती हैं तो भी वे अपनी टीमों के साथ बने रहेंगे।’’