IPL management to track Ness Wadia matter
Ness Wadia @AFP

सर्वोच्च अदालत की ओर से नियुक्त की गई प्रशासकों की समिति (सीओए) ने चयन समिति और क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) को छोड़कर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की सभी समितियों को भंग कर दिया था।

पढ़ें: स्मिथ, वार्नर बड़े खिलाड़ी, विश्व कप में उनको दी जाएंगी जिम्मेदारियां : लैंगर

भंग की गई समितियों में आईपीएल गवर्निंग काउंसिल भी शामिल है, लेकिन इसकी जगह आईपीएल प्रबंधन टीम का निर्माण किया गया था। यही टीम अब किंग्स इलेवन पंजाब के सह-मालिक नेस वाडिया के विवाद पर नजर रखेगी और सीओए को इसकी जानकारी देगी।

इस मामले में शुक्रवार को मुंबई में बैठक हुई, जिसमें आईपीएल प्रबंधन टीम ने वाडिया मामले पर नजर रखने और इसकी जानकारी सीओए को देने के लिए हामी भर दी है। इस मामले से जुड़े एक सूत्र ने इसकी जानकारी दी।

सूत्र के मुताबिक, ‘वह इस मामले को देख रहे हैं और इस मामले पर पूरी तरह से नजर बनाए रखते हुए सीओए को इसकी जानकारी देंगे।’

पढ़ें:  विराट की बैंगलुरू को हरा प्लेऑफ में जगह बनाने उतरेंगे सनराइजर्स

आईपीएल के संचालन नियमों के क्लॉज 14 के सेक्शन 2 के मुताबिक, संचालन नियमों में शामिल प्रत्येक व्यक्ति मैच के दौरान या उससे इतर, ऐसी कोई हरकत नहीं कर सकता जिससे किसी भी टीम फ्रेंचाइजी, खिलाड़ी, टीम अधिकारी, बीसीसीआई, लीग या खेल को इज्जत दांव पर लगे।

नियम में लिखा गया है कि टीम या फ्रेंचाइजी का सदस्य अगर नियमों का उल्लंघन करता है तो लोकपाल या समिति उस टीम या फ्रेंचाइजी को प्रतिबंधित कर सकती है।

नियम कहता है कि मामले को पहले कमिशन के पास भेजना चाहिए और फिर जांच के बाद कमिशन उसे बीसीसीआई लोकपाल के पास भेजेगा।