आईपीएल स्‍पॉट फिक्सिंग (S Sreesanth Spot Fixing) मामले में बैन झेल रहे तेज गेंदबाज एस श्रीसंत अब आजाद हो गए हैं. उनपर लगे प्रतिबंध की अवधि पूरी हो गई है.

37 साल के हो चुके श्रीसंत पहले ही यह साफ कर चुके हैं कि वो एक बार फिर भारत के लिए अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट खेलना चाहते हैं. आईपीएल 2013 के दौरान स्‍पॉट फिक्सिंग के मामले में दिल्‍ली पुलिस ने उन्‍हें गिरफ्तार किया था. जिसके बाद बीसीसीआई ने उनपर आजीवन क्रिकेट खेलने से प्रतिबंध लगा दिया था.

श्रीसंत ने ट्वीट किया, “अब मैं हर प्रकार के आरोपों से पूरी तरह से मुक्‍त हूं और अब मैं उस खेल में प्रतिनिधित्‍व कर सकता जिसे मैं सबसे ज्‍यादा पसंद करता हूं. अब मैं मेरे द्वारा डाली गई हर बॉल में अपना सर्वश्रेष्‍ठ देने का प्रयास करूंगा, चाहे वो प्रैक्टिस मैच ही क्‍यों ना हो. अभी मेरे पास देने के लिए 5 से सात साल हैं. अब मैं जिस भी टीम में खेलूंगा तो वहां अपना सर्वश्रेष्‍ठ देने का प्रयास करूगा.”

लंबी कानूनी लड़ाई के बाद अदालत ने श्रीसंतको आपराधिक मामले में बरी कर दिया था. हालांकि इसके बावजूद भी उन्‍हें  बीसीसीआई द्वारा क्रिकेट खेलने पर लगाए गए प्रतिबंध को हटवाने के लिए एक नई कानूनी जंग लड़नी पड़ी थी. जिसके बाद आजीवन प्रतिबंध को सात साल में तबदील कर दिया गया था.