Irfan Pathan and support staffs of J&K team requested to leave the state due to security reasons: Reports
इरफान पठान © IANS

जम्मू कश्मीर में अशांति होने की वजह से खिलाड़ियों की सुरक्षा का ध्यान रखते हुए भारतीय क्रिकेटर इरफान पठान  और सपोर्ट स्टाफ समेत 100 क्रिकेटरों को राज्य से बाहर जाने के लिए कहा गया है।

न्यू इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक पठान, जो कि जम्मू कश्मीर टीम के खिलाड़ी होने के साथ साथ मेंटोर भी हैं, टीम के कोच मिलाब मेवाडा और ट्रेनर सुदर्शन वीपी के साथ रविवार को कश्मीर से रवाना होंगे।

जम्मू कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन के प्रमुख कार्यकारी अधिकारी सैयद आशिक हुसैन बुखारी ने इस खबर की पुष्टि की। उन्होंने कहा, “हां, जेकेसीए ने पठान और बाकी सपोर्ट स्टाफ को जम्मू कश्मीर से जाने से सलाह दी है। वो रविवार को घाटी से निकल जाएंगे। चयनकर्ता, जो कि यहां के नहीं है, उन्हें भी अपने घर लौटने के लिए कहा गया है।”

दूसरे टी20 में सीरीज पर कब्जा करने के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया

बुखारी ने बताया कि ना केवल स्पोर्ट स्टाफ बल्कि 100 से ज्यादा खिलाड़ियों को भी राज्य से बाहर भेजा है। उन्होंने बताया, “हमने पहले ही 101-102 जम्मू के खिलाड़ियों को बाहर भेजा है, जो शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में कैंप लगाए हुए थे। स्थिति तनावपूर्ण है और हमें नहीं पता है कि क्या होने वाला है, इसलिए हमने क्रिकेट गतिविधियों को स्थगित कर दिया और इसे फिर से शुरू करने के लिए सही समय का इंतजार करने का फैसला किया है।”

बता दें कि बीसीसीआई ने हाल ही में 2019-20 घरेलू सीजन का ऐलान किया है जो कि 17 अगस्त को दलीप ट्रॉफी के साथ शुरू होगा। ऐसे में खिलाड़ियों का घाटी छोड़कर जाना जम्मू कश्मीर टीम पर भारी पड़ सकता है।