इरफान पठान  © IANS
इरफान पठान © IANS

टीम इंडिया से बाहर चल रहे इरफान पठान पिछले कुछ सालों से वापसी के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं। उनकी वापसी की कोशिशों को उस वक्त तगड़ा झटका लगा जब उन्हें बड़ौदा के कप्तान के पद से बर्खास्त कर दिया गया। इसके साथ ही त्रिपुरा के खिलाफ खेले जाने वाले तीसरे मैच के लिए 15 सदस्यीय टीम में भी इरफान को जगह नहीं दी गई।

बड़ौदा मौजूदा समय में ग्रुप सी में सबसे नीचे है, अब इस टीम की कप्तानी ऑल-राउंडर दीपक हुड्डा करेंगे। पठान इस टूर्नांमेंट में सिर्फ 2 विकेट ही ले पाए हैं। पठान को कप्तानी से हटाने का जब निर्णय सुनाया गया तो हर कोई हैरान रह गया। क्योंकि उन्होंने मध्यप्रदेश के खिलाफ पहले मैच में 80 रनों की पारी खेली थी।

 

अब इरफान ने ट्विटर पर अपनी निराशा जाहिर की है। उन्होंने लिखा है, “अपने बॉस को गुड मॉर्निंग न कहना और उनकी हर बात न मानना आपके खिलाफ जा सकता है… लेकिन कोई चिंता की बात नहीं है, अपना काम करते रहो।” पठान के इस ट्वीट के बाद ट्विटर पर कई फैंस ने अपना समर्थन दिया है और उनके पक्ष में ट्वीट किया है। इरफान जिन्होंने साल 2003 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना डेब्यू एडिलेड ओवल में किया था। वह आखिरी बार टीम इंडिया के लिए टेस्ट साल 2008 में द. अफ्रीका के खिलाफ खेले थे।

मैच प्रिव्यू: न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली टी20 जीत हासिल करने उतरेगी टीम इंडिया
मैच प्रिव्यू: न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली टी20 जीत हासिल करने उतरेगी टीम इंडिया

इरफान अपना आखिरी वनडे और टेस्ट क्रमशः साल 2012 और 2008 में खेले। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज इरफान जिन्हें पाकिस्तान के खिलाफ कराची में अपनी हैट्रिक के लिए जाना जाता है, उन्होंने हाल ही में एक इंटरव्यू में स्वीकारा था कि उनकी वापसी का समय तेजी से निकला जा रहा है।