साल 2013 की चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) के रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को सलामी बल्लेबाजी की जिम्मेदारी थी, उसके बाद से शुरू हुई रोहित-धवन की सफल जोड़ी ने भारतीय टीम को कई मैच जिताए हैं। पूर्व तेज गेंदबाज इरफान पठान का कहना कहा कि शिखर धवन (Shikhar Dhawan) और रोहित की जोड़ी की सफलता का राज है दोनों खिलाड़ियों का एक दूसरे के मजबूत पक्ष के मुताबिक खेलना।

पठान ने स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ में कहा, ‘हम जानते हैं कि शिखर बहुत खुलकर खेलते हैं। वो रोहित शर्मा को समय देते हैं। हम सभी जानते हैं कि कैसे रोहित शर्मा तेजी से आक्रामक रूख अख्तियार करने में सक्षम हैं, लेकिन उन्हें शुरुआत में समय चाहिए होता है।’’

पठान ने कहा कि दोनों खिलाड़ी एक-दूसरे के खेल और क्षमताओं के बारे में जानते हैं और इससे काफी फर्क पड़ता है।

उन्होंने कहा, ‘‘क्रिकेट में आपको अपनी ताकत और कमजोरी को समझने के लिए दूसरे छोर पर किसी की जरूरत होती है। शिखर को पता है कि रोहित को शुरुआत में कुछ ओवरों की जरूरत होती है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ऐसे समय मे शिखर जिम्मेदारी उठाते है और मुझे लगता है कि इस वजह से वो सफल भी है। जब गेंदबाजी के लिए स्पिनर आते है तब तक रोहित क्रीज पर जम चुके होते है और वो शिखर से सारी जिम्मेदारी अपने ऊपर ले लेते है।’’

रोहित और शिखर के नाम 16 शतकीय साझेदारी है और वे इस सूची में एडम गिलक्रिस्ट और मैथ्यू हेडन के साथ संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर है। पहले स्थान पर सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली है जिनके नाम 21 शतकीय साझेदारी है।