It was like a movie, bleeding people running out of the building: Bangladesh Team Manager Khaled Mashud
Bangladesh (CA/Twitter)

क्राइस्टचर्च की एक मस्जिद में हुए आतंकी हमले से बाल बाल बची बांग्लादेश क्रिकेट टीम के मैनेजर खालिद मशूद ने घटना का आंखो देखा हाल बयान किया। मशूद ने क्रिकबज को दिए बयान में बताया कि अगर चंद मिनटों की देर होती तो बांग्लादेशी खिलाड़ी इस घटना का शिकार बन जाते।

मशूद ने कहा, “ये किसी फिल्म जैसा लग रहा था, इमारत से बाहर भाग रहे लोग खून से लथपथ थे। हम दस मिनट तक बस में ही थे। हम मस्जिद के बेहद नजदीक थे, हम मस्जिद को देख सकते थे। हम एक तरह से भाग्यशाली रहे, अगर हम तीन-चार मिनट पहले आ जाते तो, उस समय हम मस्जिद के अंदर होते और फिर ये एक बहुत बड़ा हमला हो जाता।”

ये भी पढ़े: क्राइस्टचर्च मस्जिद शूटिंग: आतंकित बांग्लादेश टीम तुरंत लौटना चाहती है वापस !

बांग्लादेशी टीम को पहले ही मस्जिद जाना था लेकिन कप्तान महमूदुल्लाह की प्री-मैच प्रेस कॉन्फ्रेंस को खत्म होने में जरूरत से ज्यादा समय लग गया और टीम करीबन तय समय से 10 मिनट देरी से मस्जिद पहुंची।

टीम मैनेजर ने घटना का पूरा हाल बयान करते हुए आगे कहा, “हम भाग्यशाली थे जो हम अंदर नहीं थे लेकिन बाहर से हमने सब देखा और ये सब फिल्म जैसा लग रहा था। हमने खून से लथपथ लोगों को मस्जिद से बाहर भागते देखा। हम 8-10 मिनट तक बस की फर्श पर लेटे रहे थे। हमें लगा कि अगर वो (हमलावर) हमें बस के अंदर देख लेंगे तो वो हम पर भी हमला करेंगे। उस समय खिलाड़ियों ने फैसला किया कि उन्हें बस से निकलना चाहिए और जल्दी वापस लौटना चाहिए।”

ये भी पढ़े: क्राइस्टचर्च मस्जिद शूटिंग: बांग्लादेश और न्यूजीलैंड के बीच टेस्ट मैच रद्द

मशूद ने आगे कहा, “हम काफी देर तक ड्रेसिंग रूम के अंदर ही रहे और ये सोचते रहे कि बाहर कैसे निकला जाय। न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड हमें सुरक्षित वापस होटल पहुंचाने की कोशिश कर रहा था। उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया और उन्हें इसका दोषी नहीं ठहराया जा सकता क्योंकि उन्होंने हर वो कोशिश की जो वो कर सकते थे। खिलाड़ियों ने एक दूसरे का साथ दिया और बस से निकलने का सही फैसला किया। ऐसे समय में सुरक्षित होटल पहुंचने में हमारी मदद करने के लिए न्यूजीलैंड बोर्ड का शुक्रिया।”

घटना के बाद 15 मार्च को न्यूजीलैंड और बांग्लादेश के बीच क्राइस्टचर्च में होने वाला तीसरा और आखिरी टेस्ट मैच रद्द कर दिया गया है। आईसीसी ने भी घटना की निंदा करते हुए टेस्ट मैच रद्द करने के फैसला का समर्थन किया है।