I’ve never been in the changing room before called out to bat again, says Ben Stokes
Ben Stokes (AFP Photo)

सैंट लूसिया टेस्ट के पहले दिन शानदार अर्धशतक जड़कर इंग्लैंड को मुश्किल से बाहर निकालने वाले बेन स्टोक्स अंपायर से उन्हें वापस बुलाने के फैसले से थोड़ा हौरान हैं। दरअसल पहले दिन 70वें ओवर के दौरान स्टोक्स अल्जारी जोसेफ की गेंद पर कैच आउट हो गए थे लेकिन रीप्ले में जोसेफ का पैर लाइन के आगे दिखने के बाद अंपायर ने मैदान से बाहर जा चुके स्टोक्स को वापस बुलाने का फैसला किया।

ये भी पढ़ें: आउट होने के बाद मैदान से बाहर गए बेन स्टोक्स को अंपायर ने वापस बुलाया

इस मामले पर स्टोक्स ने कहा, “ये पहली बार है, मुझे कभी भी ड्रेसिंग रूम में जाने के बाद कभी भी बल्लेबाजी के लिए वापस नहीं बुलाया गया। मैं पैड उतारकर अपनी कुर्सी पर बैठा था और फिर काफी शोर होने लगा तो मुझे लगा कि एक और विकेट गिरा है लेकिन शोर नो बॉल को लेकर था जो कि हैरान करने वाला था। मुझे मैदान पर जाने से पहले अपने आप को फिर से सही मानसिक स्थिति में लाना था। मुझे इसे भुलाकर ये कोशिश करनी थी कि मैं दिन का खेल खत्म होने तक नाबाद रहूं।”

ये भी पढ़ें: सैंट लूसिया टेस्ट: जोस बटलर, बेन स्टोक्स ने इंग्लैंड को संभाला, पहले दिन 231/4

स्टोक्स जैसा चाहते थे उन्होंने वैसा ही किया। स्टोक्स ने जोस बटलर के साथ शतकीय साझेदारी बनाई। स्टंप्स तक स्टोक्स 62 रन बनाकर नाबादा थे। इंग्लिश ऑलराउंडर ने आगे कहा, “मैं खुशकिस्मत रहा। आउट होने के बाद मैं 10-15 मिनट तक किट नहीं उतारता हूं। कुछ लोग तुरंत ही किट उतार देते हैं। अगर मैं ऐसा करता था, मुझे नहीं पता कि क्या होगा। मुझे बाहर जाना था और जो हुआ उसे भुलाना था। ऐसा था जैसे मैं मैदान से बाहर गया ही नहीं था। मुझे एक जीवनदान मिला था और मेरी कोशिश थी कि इसे बेकार ना जानें दूं।”