James Anderson: Australian cricketers try too hard to be that  stereotypical aggressive team
James Anderson © Getty Images

क्रिकेट के शुरुआती दिनों से ही ऑस्ट्रेलिया की छवि एक आक्रामक और मजबूत टीम की रही है। मैदान पर स्लेजिंग और माइंड गेम कंगारू टीम की रणनीति का हिस्सा रहे हैं। अब मौजूदा ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर उसी छवि पर खरे उतरने के लिए आक्रामक दिखने की कोशिश करते हैं, ऐसा कहना है इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन का।

टेस्ट के नंबर एक गेंदबाज ने दांबुला वनडे के दौरान कमेंट्री करते हुए कहा, “उन्हें लगता है कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ऐसे ही खेलते हैं। उन्होंने पुरानी आक्रामक ऑस्ट्रेलिया टीम की तरह बनने के लिए बहुत मेहनत की है।”

बता दें कि पिछले साल हुई एशेज सीरीज के दौरान ऑस्ट्रेलियाई स्पिन गेंदबाज नाथन लॉयन ने कहा था कि ये सीरीज कई इंग्लिश क्रिकेटरों का करियर खत्म कर सकती है। इस पर एंडरसन ने कहा कि इंग्लैंड टीम ने सोचा कि लॉयन का ये बयान उनके “चरित्र से बाहर” था और उन्हें पता था कि “ऑस्ट्रेलिया की कई टीम ऐसी नहीं थीं”।

एंडरसन ने आगे कहा, “टिम पेन बहुत अच्छा शख्स है, मिचेल स्टार्क तेज गेंदबाज होने के बावजूद स्वभाव से आक्रामक नहीं है और स्टीवन स्मिथ भी बहुत अच्छा लड़का है। वो जो भी करता है उसमें कुछ भी वास्तविकता में बुरा नहीं है, वो सब चरित्र से बाहर है।” स्मिथ फिलहाल डेविड वार्नर और कैमरून बैनक्रॉफ्ट समेत गेंद से छेड़छाड़ मामले में बैन झेल रहे हैं।