James Anderson: I don’t play IPL cause there is no real drive for me to make myself a brilliant T20 player
James Anderson © Getty Images

दुनिया के नंबर एक टेस्ट गेंदबाज जेम्स एंडरसन को टी20 क्रिकेट में दिलचस्पी नहीं है। इंग्लैंड-श्रीलंका वनडे मैच के दौरान कमेंट्री कर रहे एंडरसन ने जब पूछा गया कि वो भारत की मशहूर इंडियन प्रीमियर लीग में क्यों नहीं खेलते हैं तो उन्होंने कहा कि उनका आईपीएल में खेलना उनकी घरेलू टीम लंकाशायर के लिए गलत होगा। उन्होंने कहा, “मैने काफी समय से सफेद गेंद का क्रिकेट नहीं खेला है। ऐसे में अगर मैं आईपीएल खेलूं और उनसे ये कहूं कि मैं शुरुआती घरेलू सीजन नहीं खेलूंगा तो ये लंकाशायर के साथ सही नहीं होगा।”

इंग्लैंड के लिए साल 2009 में आखिरी टी20 मैच खेलने वाले एंडरसन ने कहा, “हां, मैं केवल देखने के लिए कि ये कैसा होता है आईपीएल खेलना चाहूंगा। मैने एक बार नीलामी में हिस्सा भी लिया था लेकिन किसी को दिलचस्पी नहीं थी इसलिए मैं वापस नहीं गया। मेरे अंदर एक बेहतरीन टी20 खिलाड़ी बनने की कोई इच्छा नहीं है। मैं अपने आप को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ टेस्ट खिलाड़ी बनाना चाहता हूं। मैं नीलामी में इसलिए गया था क्योंकि सभी जा रहे थे और पैसा भी अच्छा था।”

हाल ही में भारत के खिलाफ सीरीज के दौरान एंडरसन ने सर्वाधिक टेस्ट विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज होने का कीर्तिमान हासिल किया है। जो रूट की कप्तानी में इंग्लैंड ने 4-1 से ये सीरीज जीती थी। दांबुला वनडे की कमेंट्री करते हुए एंडरसन ने रूट की कप्तानी को लेकर भी बात की। उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि जो रूट को युवा खिलाड़ी होकर सीनियर खिलाड़ियों का नेतृत्व करने के लिए संघर्ष करना पड़ा लेकिन उसने इस सीजन अच्छा काम किया और वो लगातार बेहतर हो रहा है।”

एंडरसन ने टीम में सीनियर खिलाड़ियों की भूमिका पर बात करते हुए कहा, “बतौर खिलाड़ी आप कप्तान का साथ चाहते हैं। मुझे हमेशा लगा कि मुझे कप्तान की तरह होना चाहिए। टीम को अगुवाई करने वालों की जरूरत होती है। कप्तान का काम बहुत बड़ा होता है और वो हर समय सब कुछ नहीं कर सकता। जिन सफल टीमों का मैं हिस्सा रहा हूं, उनमें नेतृत्व क्षमता वाले पांच-छह लोग रहे हैं।”