James Anderson praises West Indies for ‘scary’ decision to tour England

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन ने वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों की प्रशंसा की है जिन्होंने कोविड-19 महामारी के बावजूद ‘डराने वाला’ फैसला लिया है। विंडीज टीम कोरोना वायरस महामारी के दौरान तीन टेस्ट मैचों की क्रिकेट श्रृंखला खेलने के लिए ब्रिटेन के दौरे पर है।

कैरेबियाई सरजमीं पर कई द्वीपों में कोविड-19 के 100 से भी कम मामले रहे जबकि ब्रिटेन दुनिया के सबसे प्रभावित देशों में से एक रहा जहां अभी तक इस वायरस से 40,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

#10YearsofKingKohliInT20Is: विराट कोहली के T20 में 10 साल पूरे, बधाइयों का लगा तांता

लॉकडाउन के कारण लगी पाबंदियों में धीरे-धीरे ढील दी जा रही है लेकिन वेस्टइंडीज की टीम मंगलवार को ही दौरे के लिए पहुंच गई। पहला टेस्ट सख्त स्वास्थ्य एवं सुरक्षा प्रोटोकॉल में आठ जुलाई के बाद शुरू होगा। खिलाड़ी अभी मैनेचेस्टर में अलग रह रहे हैं और उनका नियमित तौर पर परीक्षण किया जाएगा। वे जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में ट्रेनिंग करेंगे और खेलेंगे।

वेस्टइंडीज के तीन खिलाड़ियों- डेरेन ब्रावो, शिमरोन हेतमेयर और कीमो पॉल ने हालांकि दौरा करने से इनकार कर दिया।

एंडरसन ने मार्च के बाद से अंतरराष्ट्रीय मैचों के ठप्प होने का जिक्र करते हुए कहा, ‘यह खेल के लिए अच्छा है, शानदार, कि हम इतने समय बाद कुछ टेस्ट क्रिकेट खेलने के करीब पहुंच गए हैं।’

उन्होंने कहा, ‘हमारी ओर से, हम वेस्टइंडीज के यहां आने से उनके बहुत शुक्रगुजार हैं। दुनिया में जो कुछ भी हो रहा है, मैं सोच सकता हूं कि उनमें से काफी के लिए या सभी के लिए ही यह काफी डराने वाला फैसला होगा।’

इंग्लैंड दौरे पर नहीं जाएंगे पेसर मोहम्मद आमिर और बल्लेबाज हैरिस सोहेल, जानिए वजह

इंग्लैंड का श्रीलंका दौरा वायरस के फैलने के कारण मार्च में ही खत्म करना पड़ा था जिससे खिलाड़ी बिना किसी प्रतिस्पर्धी क्रिकेट के वेस्टइंडीज के खिलाफ श्रृंखला में उतरेंगे जो विशेषकर 37 साल के एंडरसन के लिए काफी समस्या वाला होगा।

इंग्लैंड का सर्वकालिक सर्वाधिक विकेट चटकाने वाला यह गेंदबाज पिछले साल से चोटों से जूझ रहा है और जनवरी में पसली की समस्या के कारण उन्हें टीम के दक्षिण अफ्रीका के दौरे को छोड़कर आना पड़ा था। उन्होंने अगस्त से केवल 74 ओवर ही फेंके हैं।