Jason Holder: We only make money when India or England travel to West Indies
Jason Holder @twitter

कोरोनाकाल (Coronavirus pandemic) में जिस तरह से वेस्टइंडीज ने इंग्लैंड (West Indies Tour Of England 2020) का दौरा करने की हिम्मत दिखाई थी उसकी सबने सराहना की थी। तीन मैचों की सीरीज मंगलवार को संपन्न हो गई जहां मेहमान विंडीज को 1-2 से हार का सामना करना पड़ा।

वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन होल्डर (Jason Holder) का मानना है कि ‘संबंधित’अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि छोटी टीमों को भी नियमित रूप से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने का मौका मिले क्योंकि कोविड-19 महामारी के बीच भारत, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के पास ही जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में मैचों का आयोजन कराने के लिए जरूरी संसाधन है।

आज ही के दिन जयवर्धने-संगकारा ने खेली थी वर्ल्ड रिकॉर्ड पारी

इंग्लैंड में श्रृंखला का आयोजन जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में किया गया लेकिन इससे आयोजन के खर्चे काफी बढ़ गए और होल्डर ने कहा कि वेस्टइंडीज जैसी टीमों को इस तरह का वातावरण तैयार करने में जूझना पड़ सकता है।

होल्डर ने यहां तीसरे टेस्ट के समाप्त होने के बाद कहा, ‘अगर जल्द ही कुछ नहीं हुआ तो हम देखेंगे कि छोटे देश कम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल रहे हैं क्योंकि हम यह खर्चा नहीं उठा सकते। अब चार या पांच मैचों की श्रृंखला की जगह दो या तीन मैचों की श्रृंखला हो रही है।’

उन्होंने कहा, ‘और हमारे लिए इससे अधिक की मेजबानी काफी मुश्किल है विशेषकर कैरेबिया में। हमारे लिए यह गंभीर दुविधा है। मुझे लगता है कि संबंधित लोगों को बैठकर इस पर विचार करने की जरूरत है।’

वेस्टइंडीज और इंग्लैंड के बीच श्रृंखला सिर्फ दो स्थलों मैनचेस्टर और साउथम्पटन में खेली गई और आठ हफ्ते के दौरे के दौरान दोनों टीमें स्टेडियम के होटल में ही ठहरीं।

Live streaming England vs Ireland ODI 2020: इंग्लैंड-आयरलैंड के बीच कहां देख सकेंगे वनडे मैच, जानिए पूरी डिटेल

होल्डर ने उम्मीद जताई कि इंग्लैंड की टीम भी उनके नक्शेकदम पर चलते हुए जल्द ही कैरेबियाई देशों का दौरा करेगी। उन्होंने कहा, ‘हम सिर्फ इंग्लैंड की श्रृंखला से ही पैसा कमाते हैं और मुझे लगता है कि भारत से। ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के खिलाफ श्रृंखला से कोई फायदा या नुकसान नहीं होता और बाकी सभी श्रृंखलाओं से हमें नुकसान उठाना पड़ता है। लेकिन इस मुश्किल के समय में सिर्फ इंग्लैंड, आस्ट्रेलिया और संभवत: भारत ही क्रिकेट की मेजबानी कर सकते हैं।’

वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड पर कोविड-19 महामारी के वित्तीय असर को देखते हुए वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों और स्टाफ को वेतन कटौती का सामना करना पड़ रहा है। होल्डर ने कहा, ‘वित्तीय रूप से वेस्टइंडीज क्रिकेट के लिए पिछले कुछ साल मुश्किल रहे। हमें वेतन कटौती का सामना करना पड़ा इसलिए अगर 2020 के अंत से पहले श्रृंखला की मेजबानी संभव हुई तो हम एक संगठन के रूप में काम करते रह पाएंगे।’

होल्डर ने कहा कि दौरे के दौरान चुनौतियों के बावजूद उन्होंने इसका लुत्फ उठाया।