© Getty Images
© Getty Images

गेंद में तेजी, जबर्दस्त उछाल, सटीक लाइन-लेंथ और गेंद को दोनों ओर मूव कराने की काबिलियत। ये है जसप्रीत बुमराह की वो ताकत जो उन्हें दक्षिण अफ्रीका दौरे पर टीम इंडिया का तुरुप का इक्का बनाती है। भले ही जसप्रीत बुमराह को टीम इंडिया की टेस्ट टीम में पहली बार जगह मिली है लेकिन ये तेज गेंदबाज लाल गेंद से विरोधी बल्लेबाजों पर कहर ढा सकता है। वनडे और टी20 क्रिकेट में जबर्दस्त प्रदर्शन करने के बाद अब टीम इंडिया ने द.अफ्रीका दौरे के लिए बुमराह को जगह दी है, जहां कि उछाल भरी पिच पर वो प्रोटियाज को परेशान कर सकते हैं।

दक्षिण अफ्रीका दौरे पर रवाना होने से पहले रवि शास्त्री ने भी इस बात को कहा। रवि शास्त्री ने बुधवार को कहा कि दक्षिण अफ्रीका का दौरा तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के टेस्ट टीम में शामिल होने का सबसे सही समय है। बुमराह लिमिटेड ओवरों में पहले ही अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुके हैं। शास्त्री ने बुमराह को लिमिटेड ओवरों में मौजूदा समय में विश्व के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में से एक बताया।

एलिस्टर कुक का आलोचकों को करारा जवाब, मेलबर्न टेस्ट में ठोका दोहरा शतक
एलिस्टर कुक का आलोचकों को करारा जवाब, मेलबर्न टेस्ट में ठोका दोहरा शतक

मुंबई में हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में शास्त्री ने कहा, “ये बहुत अच्छी बात है। सीमित ओवरों में उन्होंने बताया है कि वो विश्व के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में से एक हैं। उनके विपक्षी भी उनका सम्मान करते हैं।”

कोच ने कहा, “गुजरात के लिए भी, वो विरोधी टीम को परेशान कर देते हैं, उन्होंने 5-6 बार पांच से ज्यादा विकेट लिए हैं। वो जल्दी सीखने वाले हैं और उनका आत्मविश्वास ऊंचा है, इसलिए उन्हें टीमें में शामिल करने का ये सही समय है।” (IANS के इनपुट के साथ)