Jasprit Bumrah creates history under his captaincy, beating Kapil Dev and Dhoni
TWITTER

भारतीय क्रिकेट टीम की पहली पारी एजबेस्टन में इंग्लैंड के खिलाफ खेले जा रहे 5वें टेस्ट मैच के दूसरे दिन 416 रन पर सिमट गयी। दूसरे दिन टीम इंडिया ने 338/7 के स्कोर से आगे खेलना शुरू किया और पहले सेशन में तीन विकेट गंवाकर ऑलआउट हो गई। हालांकि इससे पहले ही रविंद्र जडेजा ने 194 गेंद में 104 रन बनाकर अपना शतक पूरा किया।

पहले दिन नाबाद रहने वाले जडेजा और मोहम्मद शमी (16) ने 40 गेंद में 33 रन जोड़े जिसके बाद कप्तान जसप्रीत बुमराह ने 16 गेंद में नाबाद 31 रन की पारी खेलकर भारत को 400 रन के पार पहुंचाया। बुमराह ने स्टुअर्ट ब्राड के ओवर में दो छक्के और चार चौकों की मदद से 35 रन जोड़कर टेस्ट क्रिकेट में एक ओवर में सबसे ज्यादा रन बनाने का विश्व रिकॉर्ड बना दिया।

इंग्लैंड के लिये जेम्स एंडरसन सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 60 रन देकर पांच विकेट झटके जिसमें जडेजा का विकेट भी शामिल था। ब्रॉड ने शमी के रूप में इकलौता विकेट हासिल किया जबकि मैटी पोट्स, बेन स्टोक्स और जो रूट को 1-1 सफलता मिली।

भारत ने एक समय अपने 5 विकेट 98 रन के स्कोर पर खो दिए थे लेकिन ऋषभ पंत और रविंद्र जडेजा ने छठे विकेट के लिए 222 रन की साझेदारी कर भारत का स्कोर 300 के पार पहुंचाया। इस तरह टीम इंडिया ने पहले 5 विकेट गंवाने के बाद 400 से ज्यादा का स्कोर बनाने का कारनामा तीसरी बार कर दिखाया।

इससे पहले भारत ने 1983 में चेन्नई में खेलते हुए और 2013 में कोलकाता में खेलते हुए ये कमाल किया था। साल 1983 में जहां कपिल देव टीम के कप्तान थे तो वहीं, 2013 में टीम की कमान एमएस धोनी के हाथों में थी। इस तरह बुमराह ने धोनी और कपिल देव से एक कदम आगे बढ़कर विदेशी धरती पर पहली बार ये कारनामा कर दिखाया।

पहले 5 विकेट 100 रन के भीतर गंवाने के बाद भारत का 400+ स्कोर

  • 453 (83/5) बनाम वेस्टइंडीज, कोलकाता 2013
  • 451 (92/5) बनाम वेस्टइंडीज, चेन्नई 1983
  • 416 (98/5) बनाम इंग्लैंड बर्मिंघम, 2022

(With PTI Bhasha Inputs)