jasprit bumrah likely to lead india in fifth test at birmingham as rohit effected from covid

एजबेस्टन: भारतीय क्रिकेट में आम तौर पर तेज गेंदबाजों को टीम की कप्तानी करने का मौका नहीं मिला। कपिल देव इसका एक अपवाद कहे जा सकते हैं। 1987 में कपिल देव के बाद से कोई भी तेज गेंदबाज भारतीय टेस्ट टीम का कप्तान नहीं बना है। इस घटना के 35 साल बाद जसप्रीत बुमराह इंग्लैंड के खिलाफ एक जुलाई से शुरू हो रहे एजबेस्टन टेस्ट में भारतीय टीम के कप्तान बन सकते हैं। अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि रोहित चूंकि इस टेस्ट में नहीं खेल पाएंगे इस वजह से बुमराह को कमान सौंपी जा सकती है।

नियमित कप्तान रोहित शर्मा कोविड से संक्रमित हैं और उपकप्तान केएल राहुल चोट के चलते मैच से बाहर हैं। ऐसे में बुमराह को पहली बार भारतीय टेस्ट टीम की कप्तानी करने का मौका मिल सकता है।

इस साल की शुरुआत में बुमराह को टीम साउथ अफ्रीका के खिलाफ तीन वनडे इंटरनैशनल मैचों में टीम की उपकप्तानी सौंपी गई थी। उन्होंने उस प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि अगर उन्हें कप्तानी का मौका मिलाता है तो वह उसे संभालने के लिए तैयार हैं।