इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) के 13वें सीजन की शुरुआत से पहले माना जा रहा था कि यूएई कि पिचों पर स्पिन गेंदबाजों का राज होगा लेकिन टूर्नामेंट में अब तक सीम गेंदबाजों ने अपनी बादशाहत बनाए रखी है। पर्पल कैप सूची की शीर्ष दस में से छह गेंदबाज पेसर हैं। इस सूची में भारत के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) और मोहम्मद शमी (Mohammad Shami) भी शामिल हैं। बुमराह ने जहां 14 मैचों में 27 विकेट लिए हैं, वहीं शमी के नाम इतने ही मैचों में 20 विकेट हैं।

बता दें कि इन दोनों ही दिग्गजों को भारत के आगामी ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर जाने वाले स्क्वाड में जगह मिली है। यूं तो ये दौरा तीन मैचों की वनडे और टी20 सीरीज के साथ शुरू हो रहा है लेकिन दर्शकों को सबसे ज्यादा इंतजार चार टेस्ट मैचों की बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी का रहेगा।

हालांकि टेस्ट सीरीज के दौरान बुमराह और शमी को लंबे समय बाद लाल कुकाबुरा गेंद से गेंदबाजी करनी होगी। किसी भी गेंदबाज को लिए एक फॉर्मेट से दूसरे फॉर्मेट में स्विंच करना थोड़ा मुश्किल होता है लेकिन पूर्व विंडीज दिग्गज ब्रायन लारा का मानना है कि शमी और बुमराह को ऐसी किसी समस्या का सामना करना पड़ेगा क्योंकि वो टी20 में भी टेस्ट लेंथ गेंदबाजी ही करते हैं।

हिंदुस्तान टाइम्स को दिए इंटरव्यू में लारा ने कहा, “ये समान है। बुमराह और शमी इतने सफल हैं क्योंकि वो टी20 में टेस्ट मैच लेंथ गेंदबाजी करते हैं। आप उन्हें जरूरत से ज्यादा धीमी गेंदे करते नहीं देखेंगे। वो सीम को हिट करने का देखते हैं, स्टंप को हिट करने का देखते हैं। या फिर बल्ले का किनारा लेने की कोशिश में तेज और शॉर्ट गेंद कर बल्लेबाज को मुश्किल में डालते हैं। इसलिए ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में स्विच करना उनके लिए बहुत आसान काम होगा।”

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के लिए भारतीय टेस्ट टीम: विराट कोहली (कप्तान), मयंक अग्रवाल, पृथ्वी शॉ, केएल राहुल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य (उप कप्तान), हनुमा विहारी, शुभमन गिल, साहा (विकेटकीपर), ऋषभ पंत (विकेटकीपर), जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, नवदीप सैनी, कुलदीप यादव, रवींद्र जडेजा, आर अश्विन, मोहम्मद सिराज।

क्या बुमराह के खिलाफ खेलना पसंद करते लारा

इस दौरान जब लारा से पूछा गया कि क्या वो अपने करियर के दौरान बुमराह का सामना करना पसंद करते तो उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि बुमराह से ज्यादा मैं कपिल देव, जवागल श्रीनाथ और मनोज प्रभाकर के खिलाफ खेलना पसंद करता लेकिन हां, चुनौती काफी शानदार होती।”

विंडीज बल्लेबाज ने आगे कहा, “आपको याद होगा, हमारे समय में मखाया नतिनी थे, जिनके पास उसके जैसा है एंगल था। इसलिए, जिन लोगों के खिलाफ मैंने खेला, उनसे (बुमराह की) कुछ तुलना हो सकती है। मुझे पता है कि मैं पीछे नहीं हटता।”