जसप्रीत बुमराह © Getty Images
जसप्रीत बुमराह © Getty Images

मौजूदा समय में जसप्रीत बुमराह टीम इंडिया के तेज गेंदबाजी आक्रमण की धुरी हैं। वह सीमित ओवर क्रिकेट में पिछले कुछ समय से गजब ढा रहे हैं। वह यॉर्कर फेंकने में माहिर हैं जिसके चलते वह अंतिम ओवरों में खासे सफल हैं। 17 वनडे में उन्होंने 4.86 के इकॉनमी रेट से रन खर्च किए हैं, वो भी तब जब क्रिकेट की दुनिया में बल्लेबाजों का बोलबाला है और गेंदबाजों को अक्सर सीमित ओवर क्रिकेट में अपनी गेंदबाजी की अग्निपरीक्षी देनी पड़ती है। बुमराह अपनी लंबाई का फायदा उठाते हुए तेजी से गेंद को पटक पाते हैं और बाउंसर मारते हुए बल्लेबाज को हैरान कर देते हैं।

बुमराह अब अपनी गेंदबाजी को और घातक बनाने के लिए ‘नकल गेंद’ को विकसित कर रहे हैं। नकल एक ऐसी गेंद है जो फ्लाइट कराने के दौरान गेंद की रफ्तार को कम कर देती है। यह तेज गेंदबाज की दूसरा है। इस गेंद को फेंकने के लिए अंगुलियों का इस्तेमाल गेंदबाज बड़ी चतुराई से करता है। भारतीय क्रिकेट में इस कला को सबसे पहले जहीर खान ने इस्तेमाल किया था। जहीर ने इसे दक्षिण अफ्रीका के चार्ल्स लैंगवेल्ट से सीखा था। अब बुमराह भी इस गेंद को सीखने के लिए लालयित हैं।

श्रीलंका के खिलाफ पहले वनडे के पहले बुमराह इस गेंद की प्रैक्टिस करते नजर आए थे। हालांकि, दांबुला वनडे में उन्होंने इस गेंद का इस्तेमाल नहीं किया और अपनी स्टॉक गेंदों से भी बल्लेबाजों को हलाकान किया। वह इस गेंद को मैच में इस्तेमाल करने के पहले अपनी धार को ज्यादा पैना करना चाहते हैं और ज्यादा विश्वास जीतना चाहते हैं। आईपीएल 2017 में नकल गेंद का खासा बोलबाला रहा था। [ये भी पढ़ें: शाहिद अफरीदी ने जड़ा पहला टी20 शतक, मारे छक्के ही छक्के]

पांचवें मैच में, आरसीबी और डीडी के बीच, केदार जाधव ने जहीर खान की गेंद को मिड ऑफ के ऊपर से मारने की कोशिश की थी। लेकिन जहीर की नकल बॉल ने उन्हें ठगा सा महसूस कराया था। वह हवा में झूल रही गेंद को खेलने में जल्दबाजी कर बैठे और 30 गज के घेरे के भीतर ही पकड़े गए। साल 2010 में लैंगवेल्ट से यह गेंद सीखने के बाद जहीर ने इस गेंद में महारत हासिल की। भुवनेश्वर दूसरे भारतीय गेंदबाज थे जिन्होंने इस गेंद के महत्व को समझा और उन्होंने ऑस्ट्रेलिया की सीरीज के साथ इस गेंद का इस्तेमाल करना शुरू किया था।

इसके बाद मोहित शर्मा ने इस गेंद का इस्तेमाल किया, और अब बुमराह ने इसके लिए खासी दिलचस्पी जाहिर की है। आईपीएल 2017 में गुजरात लायंस की ओर से खेलने वाले एंड्रयू टाय ने नकल गेंद से खासी सफलता प्राप्त की थी। इसकी वजह से और भी इस गेंद को लेकर भारतीय गेंदबाजों में खासी चर्चा पिछले कुछ समय से हुई है।