चोट के चलते लंबे समय से भारतीय टीम से बाहर चल रहे तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह श्रीलंका के खिलाफ जनवरी 2020 में होने वाली टी20 सीरीज के जरिए टीम में वापसी करेंगे। जाहिर है राष्ट्रीय टीम में सीधे वापसी करने से पहले बुमराह घरेलू क्रिकेट खेलकर लय में आना चाहेंगे लेकिन वो ऐसा नहीं कर सके क्योंकि उन्हें केरल के खिलाफ हो रहे रणजी मैच में खेलने की इजाजत नहीं मिली।

दरअसल भारतीय टीम मैनेजमेंट के ‘ओवरों की संख्या सीमित रखने के निर्देश’ को लेकर जसप्रीत बुमराह केरल के खिलाफ रणजी ट्राफी मैच नहीं खेल सके। टीम मैनेजमेंट पीठ की समस्या से परेशान इस गेंदबाज पर ज्यादा तनाव नहीं डालना चाहता है। रणजी मैच में लगातार एक-दो दिन तक कई ओवर कराने पड़ सकते हैं जो कि इस तेज गेंदबाज के फिटनेस में असर डालता है।

चोट से उबरने के बाद वापसी की कोशिश में जुटे बुमराह ये मैच नहीं खेल सके। भारतीय टीम के सहयोगी स्टाफ के निर्देश हैं कि बुमराह आठ-नौ ओवर से अधिक नहीं फेकेंगे। समझा जाता है कि बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह को सूचित करने के बाद ये तय किया गया कि बुमराह अब सीधे श्रीलंका के खिलाफ टी20 मैच खेलेंगे। न्यूजीलैंड में टेस्ट मैचों से पहले वो लाल गेंद से नहीं खेलेंगे।

भारतीय टीम में कमबैक से पहले शिखर धवन ने Ranji Trophy में ठोका शतक

हालांकि गुजरात के तेज गेंदबाजों ने बुमराह के बिना ही ग्रुप ए के इस मैच के पहले दिन शानदार प्रदर्शन किया। सुरत में खेले जा रहे इस मैच के पहले दिन कुल 20 विकेट गिरे। पहली पारी में 127 रन पर आउट होने के बाद गुजरात के गेंदबाजों ने केरल के 70 रन पर समेटकर 57 रन की बढ़त ली।

गुजरात ने पहले दिन का खेल समाप्त होने पर बिना किसी नुकसान के एक रन बना लिया था। रूष कलारिया ने चार और अक्षर पटेल ने तीन विकेट लिए। ग्रुप के अन्य मैचों में नागपुर में विदर्भ ने पंजाब के खिलाफ छह विकेट पर 196 रन बना लिये ।