कोविड-19 महामारी से इस समय समूचा विश्व जूझ रहा है. कोरोनावायरस के कारण खेल की लगभग सभी प्रतियोगिताएं या तो स्थगित कर दी गई हैं या उन्हें रद्द कर दिया गया है. भारत में इससे संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 4 हजार को पार कर गया है जबकि इसकी चपेट में आकर 100 से अधिक लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.

शेन वॉर्न ने टेस्ट की तरह वनडे क्रिकेट में भी चैंपियनशिप शुरू करने की मांग की

कोरोना से छिड़ी जंग में आर्थिक मदद को कई क्रिकेटर सामने आ रहे हैं. अब इसमें नया नाम जयदेव उनादकट का है जिन्होंने मंगलवार को प्रधानमंत्री केयर्स फंड और गुजरात मुख्यमंत्री राहत कोष में योगदान देने का ऐलान किया है. इस गेंदबाज ने सोशल मीडिया टिवटर पर लिखा, ‘मेरा परिवार और मैं प्रधानमंत्री केयर्स फंड और मुख्यमंत्री राहत कोष में योगदान दे रहे हैं. साथ ही स्थानीय जरूरतमंद लोगों को जरूरी सामना मुहैया करा रहे हैं.’

उन्होंने कहा, ‘आखिरी के कुछ दिन हमारे लिए काफी चुनौतीपूर्ण रहे हैं. जो लोग जरूरी चीजें तक नहीं ले पा रहे हैं उनके लिए मुझे दुख होता है. इस स्थिति में हम सभी को एक साथ रहना चाहिए, सकारात्मकता को बढ़ावा देना चाहिए और जो बन पड़े करना चाहिए.’

सुनील गावस्कर बोले- महेंद्र सिंह धोनी शायद ही कभी ‘बिजनेस क्लास’ में बैठे हों

उनादकट के अलावा मंगलवार को ही दिग्गज सुनील गावस्कर और चेतेश्वर पुजारा ने भी इस आपदा में मदद का हाथ आगे बढ़ाया. इससे पहले दिग्गज सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे और केदार जाधव भी इस नेक काम को आगे हाथ बढ़ाया है.