Jhulan Goswama: Better to have 2021 WC on time than it getting delayed
Jhulan Goswami © Twitter

कोरोनावायरस के कारण इस समय पूरा विश्व ठहरा हुआ है, ऐसे में भारतीय महिला क्रिकेट टीम की अनुभवी खिलाड़ी झूलन गोस्वामी अपनी टीम की साथियों के साथ फीफा ऑनलाइन गेम खेल रही हैं। वैसे तो वह अगले साल होने वाले विश्व कप की तैयारी करना पसंद करतीं लेकिन उनका कहना है कि इस महामारी के कारण लगे लॉकडाउन में रहने की वह धीरे-धीरे आदी हो चली हैं।

झूलन ने कहा, “शुरुआत में ज्यादा अच्छा नहीं लग रहा था। हम नहीं जानते थे कि क्या हो रहा है और अचानक से हमें लॉकडाउन में भेज दिया गया। धीरे-धीरे हम इसके आदी हो गए।”

जब डॉक्टर्स ने बोल दिया था कि कभी क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे जोफ्रा आर्चर

उन्होंने कहा, “आपकी सोचने की प्रक्रिया बदल जाती है और आप आपना डेली रूटीन ढूंढ लेते हो। मैंने अपनी ट्रेनिंग एक्सरसाइज शुरू कर दी है। मेरे घर में थोड़ी बहुत जगह है जहां मैं हर सुबह ट्रेनिंग करती हूं। इस समय यह घर में रहने और सकारात्मक रहने की बात है।”

न्यूजीलैंड में अगले साल होने वाला विश्व कप झूलन का अखिरी विश्व कप हो सकता है और झूलन चाहती हैं कि वह टीम को यह विश्व कप दिलाकर महिला विश्व कप में देश के सूखे को खत्म करें। लेकिन उनकी इस प्लानिंग पर कोरोनावायरस ने नजर लगा दी। उनका मानना है कि विश्व कप से पहले सही टीम संयोजन निकालना काफी मुश्किल होगा, सिर्फ भारत के लिए नहीं बल्कि बाकी की टीमों के लिए भी क्योंकि इस समय सभी टीमें खेल से दूर हैं।

उन्‍हाेंने कहा, “यहां से अगले साल तक का सफर आसान नहीं रहने वाला है। ज्यादा महीने नहीं बचे हैं और अभी तक हम ट्रेनिंग के लिए मैदान पर भी नहीं गए हैं। हमने मैच भी नहीं खेले हैं। आप विश्व कप से पहले जितने मैच खेलते हैं, उससे आप को सही टीम संयोजन ढ़ूंढने में मदद मिलती है।”

उन्होंने कहा, “हम अपने प्लान को लागू नहीं कर पाए हैं। हमें सही टीम संयोजन ढूंढना होगा और ज्यादा से ज्यादा मैच खेलने होंगे। देर होने के बजाए विश्व कप का समय पर होना ज्यादा बेहतर है।”

वायरस के खत्म होने के बाद झूलन विश्व कप के अलावा महिला आईपीएल की भी उम्मीद कर रही हैं।

दाएं हाथ की तेज गेंदबाज ने कहा, “जब भी कोविड-19 खत्म होगा, बीसीसीआई महिला आईपीएल पर चर्चा करेगा। बोर्ड फैसला लेगा कि चीजें कैसे होंगी और लड़कियां कैसा खेल रही हैं।”

उन्होंने कहा, “निश्चित तौर पर हम महिला आईपीएल चाहते हैं। यह भारतीय महिला क्रिकेट की मदद करेगा। यह भारत की युवा खिलाड़ियों को विश्व की शीर्ष खिलाड़ियों के साथ खेलने का मौका देगा। मुझे लगता है कि बोर्ड इस पर काम कर रहा है और यह जल्दी होगा।”