Jhulan Goswami: Enjoying playing in one format
Jhulan Goswami @ Getty Image

अनुभवी भारतीय तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी ने कहा है कि टी-20 से संन्यास लेने से वह मानसिक और शारीरिक रूप से तरोताजा हुई हैं और अब वह 50 ओवर के प्रारूप में खेलने का लुत्फ उठा रही हैं।

पढ़ें: भारत-पाक मैच पर फैसला बीसीसीआई करेगा : झूलन गोस्‍वामी

वनडे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट चटकाने वाली कोलकाता की 36 साल की झूलन ने पिछले साल नवंबर में हुए टी-20 विश्व कप से तीन महीने पहले टी-20 से संन्यास ले लिया था।

झूलन ने इंग्लैंड की महिला क्रिकेट टीम के खिलाफ तीसरे और अंतिम एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच की पूर्व संध्या पर संवाददाताओं से कहा, ‘मैं मानसिक और शारीरिक रूप से काफी तरोताजा हूं। मैं अपने क्रिकेट का लुत्फ उठा रही हूं क्योंकि टी-20 ऐसा प्रारूप हैं जहां आपको मानसिक या शारीरिक रूप से थोड़ा आक्रामक होना पड़ता है।’

पढ़ें: भारत के खिलाफ अंतिम वनडे अहम, चैंपियनशिप अंक दांव पर: नाइट

उन्होंने कहा, ‘इस तरह से मुझे यह सोचने के लिए अधिक समय मिल रहा है कि मुझे क्या करना है और क्या नहीं करना है इसलिए मैं एक प्रारूप में खेलने का लुत्फ उठा रही हूं।’ झूलन ने कहा कि वह पिछले साल दक्षिण अफ्रीका दौरे के समय से अपनी लय का मजा ले रही हैं।

उन्होंने कहा, ‘दक्षिण अफ्रीका दौरे से मैं अब तक अच्छी गेंदबाजी कर रही हूं। मैंने इंग्लैंड के खिलाफ नागपुर में अच्छी गेंदबाजी की। श्रीलंका में मैंने अच्छी गेंदबाजी की। न्यूजीलैंड और अब इंग्लैंड में भी।’ झूलन ने कहा, ‘मैं अपनी लय का लुत्फ उठा रही हूं और मैं वह करने का प्रयास कर रही हूं तो अपनी तरफ से कर सकती हूं।’

झूलन ने पहले वनडे में 30 रन की पारी खेली जिससे भारत 200 से अधिक रन का स्कोर खड़ा करने में सफल रहा और इस खिलाड़ी ने उनके बल्लेबाजी कौशल पर विश्वास करने का श्रेय कोच डब्ल्यूवी रमन को दिया। भारत ने पहले दो मैच जीतकर आईसीसी महिला चैंपियनशिप में चार अंक हासिल कर लिए हैं।