JKCA forced to put advertisements on local TV channels to contact players for training camp
Jammu & kashmir @ PTI

धारा-370 हटने के बाद से ही कश्‍मीर में टेलीफोन और मोबाइल नेटवर्क पूरी तरह से ठप है। ऐसे में क्रिकेट के आगामी घरेलू सीजन को देखते हुए जम्‍मू एंड कश्‍मीर क्रिकेट संघ (JKCA) बुरी तरह से फंसा हुआ है। वो अपने खिलाड़ियों से संपर्क तक नहीं कर पा रहा है। इस समस्‍या से निजात पाने के लिए जेकेसीए ने एक नया तरीका इजात किया है। राज्‍य खेल संघ कश्‍मीर के लोकल चैनलों पर विज्ञापन देकर खिलाड़ियों से संपर्क साधने का प्रयास करेगा।

पढ़ें:- RCB से जुड़े माइक हेसन आखिरी कर्नाटक प्रीमियर लीग में इस वक्‍त कर क्‍या रहे हैं ?

स्‍पोर्ट्स स्‍टार की रिपोर्ट के मुताबिक लोकल चैनल पर विज्ञापन चलाए जाएंगे। सभी क्रिकेटर्स से 31 अगस्‍त तक जम्‍मू में मिलने के लिए कहा जाएगा। बीते दिनों जेकेसीए के प्रशासक रिटायर्ड जस्टिस सीके प्रसाद की खेल संघ के सीईओ आशिक अली बुखारी और टीम के मेंटर इरफान पठान के साथ दिल्‍ली में हुई बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया।

बुखारी ने कहा, “कश्‍मीर में भले ही मोबाइल नेटवर्क काम नहीं कर रहा हो लेकिन कुछ लोकल चैनल अभी भी चल रहे हैं। ऐसे में हमें लगता है कि अपने खिलाड़ियों से संपर्क साधने का यह सही तरीका है।”

पढ़ें:- ‘राहुल द्रविड़ को मिला BCCI का वकील, तो फिर सचिन-लक्ष्‍मण ने क्‍ंंया गुनाह किया था…’

कश्‍मीर में टेलीकॉम नेटवर्क बंद होने कारण जेकेसीए विज्जी ट्रॉफी के लिए अपने खिलाड़ी नहीं भेज पाया था। अब 24 सितंबर से शुरू हो रहे घरेलू सीजन के दौरान राज्‍य खेल संघ कोई गलती नहीं करना चाहता है।